जैसलमेर, 06 जून। जिले के प्रभारी मंत्री एवं उर्जा, जन स्वास्थ्य अभियंात्रिकी, भू-जल, कला, साहित्य, संस्कृति तथा पुरातत्व मंत्री डॉ. बी.डी.कल्ला ने गुरूवार को राज्य सरकार द्वारा संचालित पशु शिविरों का निरीक्षण किया एवं पशु संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रबंधनों की जानकारी प्राप्त की।

      जिला मुख्यालय पर राहत कार्यो की समीक्षा के पश्चात प्रभारी मंत्री डॉ. कल्ला ने जैसलमेर तथा फतेहगढ उपखण्ड के अन्तर्गत राज्य सरकार द्वारा संचालित पशु शिविर का मौके पर जाकर निरीक्षण किया। उन्होंने सर्वप्रथम दरबारी का गांव में संचालित पशु शिविर को देखा। यहां पर 105 पशुओं की स्वीकृति जारी की गई है जिसके अन्तर्गत सभी व्यवस्थाएं संतोषजनक पाई गई। प्रभारी मंत्री ने इस दौरान पशुओं को पशु आहार भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इसके पश्चात प्रभारी मंत्री ने फतेहगढ उपखण्ड के अन्तर्गत केहर फकीर की ढाणी में संचालित शिविर का निरीक्षण किया। यहां 200 पशुओं के लिए चारा डिपो का संचालन किया जा रहा था। मंत्री डॉ.कल्ला ने शिविर संचालक को पशुओं को हरा चारा भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री डॉ.कल्ला ने पशुधन संरक्षण के हरा चारा एवं छाया, पानी के पुख्ता प्रबंध करने के निर्देश दिए।

अमेजन इंडिया पर आज का शानदार ऑफर देखें , घर बैठे सामान मंगवाए  : Click Here

      इस मौके पर प्रभारी मंत्री ने निर्देश दिए कि सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता अकाल में राहत कार्यो का बेहतर तरीके से संचालन के साथ-साथ चारे एवं पानी की दूर-दराज क्षेत्रों में उपलब्धता सुनिश्चित करना है। उन्होंने आवश्यकता अनुसार जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में चारा डिपों तथा पशु शिविर स्वीकृत करने के निर्देश दिए तथा कहा कि एक भी गाय चारे के अभाव में मरनी नहीं चाहिए। साथ ही जिले के किसी भी शिविर में पेयजल की कमी नहीं होनी चाहिए।