tax chori

#Jaisalmer News | वित्तीय साल 2018-19 (financial year 2018-19) के लिए आयकर रिटर्न ( income tax returns (ITR) ) भरे जा रहे हैं, लेकिन इस रिटर्न को भरने के लिए खासकर कारोबारियों को काफी ध्यान रखना होगा। कारण है कि अब सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (CBDT) और जीएसटीएन (GSTIN) के बीच जानकारी साझा करने के लिए करार हो गया है। 

इसमें करदाता को लेकर दोनों रिटर्न की जानकारी साझा की जाएगी। अंतर आने पर संबंधित करदाता को नोटिस देकर जानकारी मांगी जाएगी और उसके दोनों रिटर्न की क्रॉस जांच होगी। इसका उद्देश्य है कि किसी तरह की टैक्स चोरी ( Tax Theft ) तो नहीं की जा रही है। 

सीबीडीटी अब जानकारी साझा करने के लिए अथॉरिटी भी नियुक्त कर रहा है। आदेश में कहा गया है कि यदि जीएसटीएन (GST Network) की ओर से किसी करदाता की आईटी रिटर्न संबंधी जानकारी मांगी जाती है तो वह दी जाएगी।