Neetu chopda visit all india on scooty

बाड़मेर के बालोतरा कस्बे की बेटी नीतू चोपड़ा करेंगी स्कूटी पर भारत भ्रमण

The Jaisalmer News: आज हैदराबाद में एक और बेटी दरिंदो का शिकार हो गई, स्कूटी पर घर जा रही लेडी डॉक्टर की दरिंदों ने रेप कर हत्या करके शव जला दिया. आज बेटियां सुरक्षित नहीं है अपराधियों के हौसले बढ़े हुवे है सरकारें खामोश है.

ऐसे में बेटियों की हिम्मत बढ़ाने बाड़मेर की एक बेटी नीतू चोपड़ा अकेले ही स्कूटी लेकर भारत भ्रमण पर निकल पड़ी है. बेख़ौफ़, निडर और साहसी नीतू चाहती है देश की हर एक बेटी उसकी तरह निडर बने और हौसले से काम ले.

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और आत्मनिर्भर बनाओ का नारा लेकर एक युवती ने पूरे देश में भ्रमण का इरादा किया है। इसी इरादे के साथ वो उदयपुर से स्कूटी पर निकल पड़ी है और वो कन्याकुमारी तक का सफर करेगी।

नीतू चोपड़ा ने कहा कि महिलाओं का आशय है मन में हिम्मत लाने वाली, जो दूसरों को प्रेरित करती है और दूसरों की मदद भी करती है।

उन्होंने जीवन में सफल होने के लिए आत्मविश्वास और हर परिस्थिति के अनुरूप ढलने और चुनौतियों का सामना करने की बात कही। एक निजी संस्था द्वारा संचालित ‘लड़कियों घर से बाहर निकलो’ अभियान के तहत बालोतरा निवासी नीतू चोपड़ा ने उदयपुर से जैसलमेर तक स्कूटी द्वारा राइड की है।

जैसलमेर से नीतू चोपड़ा पोकरण,रामदेवरा होते हुए जोधपुर जाएंगी तथा वहाँ से वे जयपुर जाएंगी जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात करेंगी और उसके बाद बालोतरा लौटेंगी जहां से व कन्याकुमारी का सफर शुरू करेंगी।

स्कूटी से जैसलमेर पहुँचने पर जिला प्रमुख अंजना मेघवाल ने किया स्वागत

neetu chopda with anjana meghwal at jaisalmer
जैसलमेर जिला प्रमुख अंजना मेघवाल के साथ नीतू चोपड़ा

बेहतरीन जज़्बे के साथ जैसलमेर आई नीतू चोपड़ा का जैसलमेर वासियों ने स्वागत किया व प्रशंसा पत्र देकर हौसला अफजाई भी की।

अपने सफर के दौरान नीतू जैसलमेर पहुंची तथा उन्होने भारत पाक बार्डर तक स्कूटी पर जाकर ये साबित कर दिया है की इंसान जो भी ठान ले वो हौसलों से कर ही लेता है।

तनोट,लोंगेवला के कठिन सफर को स्कूटी पर आसान कर जैसलमेर आने पर जिला प्रमुख अंजना मेघवाल व एनजीओ एक्शन ऐड की सरिता मौर्या ने उनका स्वागत किया तथा जिला प्रमुख अंजना ने उनको प्रशंसा पत्र देकर उनकी हौसला अफजाई भी की।

जिला प्रमुख ने बताया की आज हर कोई बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की मुहिम चला रहा है मगर बेटी को आत्मनिर्भर बनाने का नारा देकर उन्हे मोटिवेट करना का जज़्बा लेकर एक लड़की पूरे देश में स्कूटी पर सफर कर रही है ये सुनकर मुझे बहुत गर्व महसूस हुआ है और मैं इनके सफर की सफलता की इनको बधाई देती हूँ।

जैसलमेर में उन्होंने राजकीय कन्या महाविद्यालय में लड़कियों को मोटिवेट भी किया।

नीतू ने बताया कि उदयपुर से जोधपुर तक की यात्रा ठीक थी, लेकिन जोधपुर से बालोतरा तक का रास्ता काफी कठिन था। जोधपुर के आगे धवा सिंधली आदि छोटे स्थानों पर हाईवे रोड लाइट नहीं होने के कारण रात के अंधेरे में गाड़ी चलाने में उन्हें काफी कठिनाई हुई। हालांकि यह सफर काफी खतरनाक था।

नीतू ने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य लड़कियों को यह संदेश देना है कि वह भी किसी से कम नहीं है। हर कोई परिजन अपनी बच्ची को अकेले घर के बाहर नहीं भेजता है वो कहते हैं छोटे भाई के साथ जाओ। तो जो ये डर है मैं वो डर खत्म करना चाहती हूँ।