Rain Basera

#JAIPUR News। जयपुर के जिला कलक्टर जगरूप सिंह यादव ने निराश्रित, बेघर, बेसहारा एवं खुले आसमान के नीचे सोने वाले व्यक्तियों के लिए गत वर्षों की भांति आगामी शीत ऋतु में पर्याप्त संख्या में रैन बसेरों का निर्माण करने एवं उनमें सभी आवश्यक आधारभूत सुविधाए उपलब्ध कराने के लिए नगर निगम, सभी 10 नगर पालिकाओं के मुख्य कार्यकारी एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वाथ्य अधिकारियों निर्देशित किया है।

उन्होंने अस्थाई रैन बसेरों की व्यवस्था शीघ्र करने एवं क्षेत्र में आम जन में इनका व्यापक प्रचार -प्रसार करने को कहा है जिससे किसी भी व्यक्ति की ठण्ड से मृत्यु न हो सके। 

यादव ने निर्देशित किया है कि ऎसे स्थानों का चिन्हीकरण किया जाए जहां ऎसे असहाय लोग रहते हों और वहां से इनको रैन बसेरों में स्थानांतरित करने के लिए आवश्यक वाहन आदि की व्यवस्था की जाए।

उन्होंने कहा है कि अस्थाई रैन बसेरों की स्थापना के लिए किसी राजकीय या सार्वजनिक भवन का भी प्रयोग किया जा सकता है अथवा वाटर प्रूफ टेन्ट्स लगवाए जा सकते हैंं। 

यादव ने निर्देश दिए कि अधिक ठंड के दौरान ताप हेतु लकड़ियों तथा कोयले आदि की व्यवस्था की जाए, रेन बसेरों में रात्रि विश्राम करने वाले व्यक्तियों को बिछाने हेतु साफ-सुथरे गद्दे, दरियां तथा ओढ़ने हेतु कम्बल तथा रजाईयों की व्यवस्था की जाए। साथ ही ठिठुरन आदि से पीड़ित व्यक्ति के तत्काल उपचार की व्यवस्था रहनी चाहिए। 


उन्होंने निर्देशित किया है कि अस्थायी रेन बसेरों की देखभाल हेतु एक टीम का गठन किया जाए।

रैन बसों की व्यवस्था करने वाल अधिकारियों कर्मचारियों को निर्देशित किया जाए कि इन रैन बसेरों में विश्राम करने वाले परिवारों, व्यक्तियों को सर्दी से बचाव हेतु पर्याप्त आवश्यक सुविधाएं तथा ओढने-बिछाने हेतु दरी कम्बल रजाइयों की, पर्याप्त पेयजल आदि की व्यवस्था सुनिश्चत करें। 


जिला कलक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वाथ्य अधिकारी जयपुर प्रथम एवं द्वितीय को इन अस्थायी रेन बसेरोें की सूची नगर निगम नगर पालिकाओं उपखण्ड अधिकारियों से प्राप्त कर रात्रि विश्राम करने वाले व्यक्तियों को सर्दी से बचाव हेतु पर्याप्त आवश्यक जीवन रक्षक दवाइयों की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया है।

साथ ही मोबाइल टीमों का गठन करने को कहा है जो समय-समय पर रेन बसेरों में जाकर रात्रि विश्राम हेतु ठहरने वाले व्यक्तियों के स्वाथ्य की जांच कर मौके पर ही करेंगी एवं जीवन रक्षक औषधियां उपलब्ध कराएंगी।

यादव ने कहा है कि रैन बसेरा आश्रय स्थल में आश्रय विहीन व्यक्तियों के लिए आधारभूत सुविधाओं जैसे स्नानागार, शौचालय आदि की व्यवथा गत वर्ष की भांति किया जाना सुनिश्चित की जाए एवं उनसे इसके लिए किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं दिया जाए।

उन्होंने रैन बसेरों की सूची, क्षमता एवं उपयोगकर्ता व्यक्तियों की साप्ताहिक जानकारी जिला कलक्टे्रट कार्यालय को दिए जाने के भी निर्देश दिए हैंं।