भोपाल। मध्यप्रदेश में राजनीतिक दलों के भीतर पनपते असंतोष को उपचुनाव ने एक बार फिर सामने ला दिया है। कांग्रेस की 15 उम्मीदवारों की सूची जारी होते ही जगह-जगह विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं तो दूसरी ओर भाजपा के प्रत्याशियों की घोषणा से पहले दल-बदल करने वालों के खिलाफ स्वर उभर रहे हैं।

राज्य में 28 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव प्रस्तावित हैं। अभी तारीखों का ऐलान हालांकि नहीं हुआ है। कांग्रेस ने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है, जिसमें 15 उम्मीदवारों के नाम है। नामों की घोषणा होने के बाद ही कई स्थानों से विरोध की आवाजें उठने लगी हें। शुरुआती तौर पर नेपानगर, दिमनी, अंबाह, गोहद और करैरा से विरोध की आवाजें सुनाई दे रही हैं, कार्यकर्ता न केवल विरोध कर रहे हैं, बल्कि पुतला दहन तक किए जा रहे हैं।

इसी तरह भारतीय जनता पार्टी में भी असंतोष पनपता नजर आ रहा है। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए नेताओं को पार्टी उम्मीदवार बनाने जा रही है और इसका अंदरूनी तौर पर विरोध भी हो रहा है। पिछले दिनों कई संभावित उम्मीदवारों को पार्टी कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना भी करना पड़ा था।

ये भी पढ़ेंतृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती को आपत्तिजनक इशारे करने वाला टैक्सी ड्राइवर गिरफ्तार

भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती पार्टी में असंतोष और जनता में विरोध की बात को नकारती हैं। उनका कहना है कि उपचुनाव में सभी स्थानों पर भाजपा की जीत होगी और कई स्थानों पर तो कांग्रेस के उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो जाएगी।

वहीं दूसरी ओर, पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। उनका कहना है, पैंतीस दिनों बाद विधानसभाध्यक्ष हम बनाएंगे। उनके इस बयान का आशय यह निकाला जा रहा है कि कांग्रेस उपचुनाव में बड़ी जीत दर्ज कर फिर सत्ता में लौटेगी।

राजनीतिक विश्लेषक रवींद्र व्यास का मानना है कि राज्य में होने वाले उपचुनाव में दोनों ही दलों के लिए मतदाताओं का दिल जीतने से पहले अपने कार्यकर्ताओं के दिलों को जीतना बड़ी चुनौती है। ऐसा इसलिए, क्योंकि दोनों दलों में असंतोष के स्वर तेजी से उभर रहे हैं। इसकी वजह भी है, क्योंकि जिन कार्यकर्ताओं ने अपना पूरा जीवन पार्टी के लिए लगा दिया, उन्हें दरकिनार कर दलबदल करने वालों को उम्मीदवार बनाया जा रहा है। असंतोष को कैसे थामा जाता है, यह बड़ा सवाल दोनों ही दलों के लिए है।

–आईएएनएस

एसएनपी/एसजीके