कोरोना पॉजिटिव ने नाचना में किया 77 घरों का डोर टू डोर सर्वे

Door To Door Survey
Door To Door Survey-Demo Pic

Nachna News: कोरोना वायरस (covid-19) के कहर के बीच अगर डोर टू डोर सर्वे (door to door survey) कर रहा सरकारी कर्मचारी (BLO) ही पॉजिटिव (corona positive) हो तो जनता का क्या हाल होगा, जाहिर है कल्पना बड़ी भयावह होगी पर ये सच्चाई है।

जैसलमेर के नाचना कस्बे (Nachna Town) में 77 घरों में 460 लोगो की स्क्रीनिंग करने वाला बीएलओ (Booth Level Officer) मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव (corona positive) पाया गया, जिसके बाद पूरे गांव में दहशत का माहौल है।

पोकरण के सिपाहियों के मोहल्ले (Sipahiyon Ka Mohlla Pokaran) का निवासी ये टीचर (Teacher) नाचना में प्राइमरी स्कूल (primary school) में पढ़ाता है। 2 और 3 अप्रैल को इसे डोर टू डोर सर्वे का काम दिया गया था जिसमें इसके साथ एक महिला शिक्षक (women teacher) की भी ड्यूटी थी।

सर्वे के बाद नाचना सीनियर सेकेंडरी स्कूल (Nachna Senior Secondary School) में रिपोर्ट देने और मीटिंग के दौरान भी ये शिक्षक अन्य लोगो के साथ मौजूद था। इसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद सारे स्टाफ में भय का माहौल है।

नाचना स्कूल जंहा आइसोलेशन सेंटर (isolation center) बनाया गया था उसके संक्रमित होने के बाद प्रधानाचार्य ने पोकरण एसडीएम को सूचना दे दी है। विद्यालय स्टाफ के 30 लोगो के साथ ही 2 ग्राम पँचायत सहायक व एक स्वच्छताग्रही रसोइया भी उक्त टीचर के संपर्क में आया है।

इस आइसोलेशन सेंटर और पँचायत घर कर्मियों को नाचना हॉस्पिटल की टीम ने जांच कर होम आइसोलेशन करवा दिया है, जिसके बाद यंहा कोई भी कार्मिक ड्यूटी देने वाला नहीं है।

ऐसे में बाहरी राज्यों से आये मजदूर जो पँचायतघर की रसोई में बना हुवा खाना खा रहे थे, उनकी लिए भी मुसीबते खड़ी हो गयी है।

नाचना में कोरोना पॉजिटिव की खबर आने के बाद किराना व्यापारी दुकाने बंद कर घर चले गए, वंही सब्जी की दुकान वाले भी बची हुई सब्जी बेचकर दुकान नहीं खोलने का कह रहे है।

जिला प्रशासन को तुरंत नाचना में दूसरा स्टाफ लगाकर और लोगो से समझाइश कर स्थिति को नियंत्रण करने की जरूरत है।

मोबाइल पे ताजा समाचार पढ़ें फेसबुक पेज लाइक करें: ट्वीटर पे फॉलो करें: