• प्राथमिकता से निस्तारित कर राहत पहुंचाने के दिए निर्देश
  • जनसुनवाई के प्रति लोगों में बढ़ें विश्वास,

जैसलमेर, 13 जून। जिला कलक्टर नमित मेहता ने जिला स्तरीय जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान लोगों की धैर्य के साथ परिवेदनाएँ सुनी और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे इन परिवेदनाओं में प्राथमिकता से कार्यवाही करते हुए संबंधित को राहत पहुंचावें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि जनसुनवाई से समय पर राहत मिले तभी लोगों का इस पर विश्वास बढता है। जिला स्तरीय जनसुनवाई में अच्छी संख्या में लोग उपस्थित हुए एवं अपनी व्यक्तिगत व सार्वजनिक समस्या से सम्बन्धित प्रार्थना-पत्र पेश किए।

जिला स्तरीय जनसुनवाई में जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल, जिला पुलिस अधीक्षक डॉ.किरण कंग, अतिरिक्त जिला कलक्टर भागीरथ विश्नोई, मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, उपखण्ड अधिकारी जैसलमेर अजय, फतेहगढ विकास राजपुरोहित, पोकरण अनिल जैन, आयुक्त नगरपरिषद सुखराम खोखर के साथ ही अन्य जिला अधिकारी उपस्थित थे।

जिला कलक्टर ने विशेष रुप से आमजन की सेवाओं से जुड़े अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे उनके विभाग की समस्याओं के प्रति सजग रह कर समस्या का समाधान अपने स्तर से करें ताकि लोगों को जिला स्तर तक नहीं आना पडें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी आमजन की जनसमस्या के निराकरण को प्राथमिकता दे रहीं है इसलिए सभी अधिकारी अपने विभाग स्तर पर गंभीरता से लोगों की समस्याएं सुनकर समाधान करना है तभी हम गुड गर्वनेंस को दे सके। उन्होंने नगरपरिषद के पानी, बिजली के साथ ही सडक पर किए गए अतिक्रमणों के मामले में भी अपने स्तर से नियमित रूप से निरीक्षण करवाकर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

जनसुनवाई के दौरान परिवादी असगर के मामले में जिला कलक्टर ने आयुक्त को निर्देश दिए कि वे खुहडी रोड व एयरपोर्ट रोड के पास अतिक्रमण हो तो इसको चिन्ह्ति करावें एवं हटाने की कार्यवाही करें। इसी प्रकार परिवादी गिरधारीराम निवासी 5-6 डीजीएम के कृषि कनेक्शन के मामले में अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि वे शीघ्र ही विद्युत कनेक्शन दिलाने की कार्यवाही करें। परिवादी पूनाराम के मामले में भी अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि वे डिग्गी के लिए बिजली कनेक्शन दिलाने की कार्यवाही करें। परिवादी धाणेली निवासियों के पानी के मामले में अधीक्षण अभियंता जलदाय को निर्देश दिए कि वे धाणेली में पानी आपूर्ति सुचारू करावें।

इसी प्रकार जनसुनवाई के दौरान रमणलाल ने बडाबाग की नाडी पर अतिक्रमण हटाने के संबंध में प्रार्थना पत्र पेश किया इस संबंध में तहसीलदार जैसलमेर को निर्देश दिए कि वे इसकी जांच कर आवश्यक कार्यवाही करावें। परिवादी रोजेखां मंगणियार निवासी मेहरेरी के मामले में जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि वे उन्हें आबादी भूमि में प्लांट देने की कार्यवाही करावें। परिवादी खमीशाराम हटार के मामले में उप निदेशक महिला एवं बाल विकास को निर्देश दिए कि वे आंगनवाडी केन्द्र चालू कराने की कार्यवाही करें।

इस प्रकार जिला स्तरीय जनसुनवाई लोगों के लिए काफी लाभदायी रहीं। जनसुनवाई में परिवादियों को राहत मिलने से जिला स्तरीय जनसुनवाई के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ रहा है एवं जनसुनवाई में परिवादियों की संख्या में हर बार बढौतरी हो रही है।

सम्पर्क पोर्टल में दर्ज प्रकरणों का समय पर करें निस्तारण

जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सम्पर्क पोर्टल में दर्ज प्रकरणों को भी गंभीरता से लें एवं समय सीमा के अन्तर्गत उसको निस्तारण करने की कार्यवाही करें।

No tags for this post.

Read More On This Topic