Hyderabad Case: where the crime was done, all four accused were killed the same place in a police encounter
Hyderabad Case: where the crime was done, all four accused were killed the same place in a police encounter

लेडी डॉक्टर को जिस जगह जलाया उसी जगह दरिंदो को भी मिली मौत

हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक से बलात्कार (Hyderabad Rape Case) के चारों आरोपी एनकाउंटर में पुलिस की गोली से मारे गए (Dead In A Police Encounter ) है.

पुलिस रिमांड के दौरान हैदराबाद पुलिस ( Hyderabad Police) चारों आरोपियों को जांच के लिए मौका ए वारदात ( Spot) पर लेकर गई थी जंहा से चारों आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिस पर पुलिस ने गोली मार दी.

सीवी सज्जनगर ( Encounter Specialist CV Sajjnar ) एनकाउंटर का नेतृत्व करने वाले शख्स हैं, 2008 में उन्होंने एक टीम का नेतृत्व किया था जिसने वारंगल में दो लड़कियों पर तेजाब फेंकने वाले तीन लोगों को मार दिया. सोशल Media (Social Media) पर लोग कह रहे है “वह निर्भीक आदमी जिसने न्याय दिया”.

Encounter Specialist CV Sajjnar Hyderabad Police
Encounter Specialist CV Sajjnar Hyderabad Police

हैदराबाद शादनगर में जानवरों की डॉक्टर से रेप और हत्या के केस में पुलिस ने चारों आरोपियों शिवा, नवीन, केशवुलू और मोहम्मद आरिफ को पुलिस रिमांड में रखा था.

बताया जा रहा है कि शुक्रवार सुबह जांच के लिए चारों को उस फ्लाइओवर के नीचे लेकर गई थी, जहां उन्होंने पीड़िता को आग के हवाले किया था. वहां क्राइम सीन को रीक्रिएट किया जा रहा था. इसी बीच चारों ने भागने की कोशिश की और मारे गए.

Media रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस कमिश्नर ने इसकी पुष्टि की है.

एनकाउंटर के बाद तेलंगाना के कानून मंत्री इंद्रकरण रेड्डी ने कहा है कि कानूनी प्रक्रिया से पहले ही भगवान ने आरोपियों को सजा दे दी.

उन्होंने कहा, ‘आरोपियों ने भागने की कोशिश की थी तो मार गिराया गया। इससे हैदराबाद समेत पूरे देश में खुशी है.

सोशल Media (Social Media) पर ट्रेंड हुवा Hyderabad Case and Hyderabad Rape Case

जैसे ही हैदराबाद रेप के आरोपियों के एनकाउंटर की खबर आई twitter पर ‘#encounter , #JusticeForDisha , #HumanRight , #hyderabadpolice trend होने लगा.

आपको बता दें कि 27 नवंबर की रात 27 साल की पशुओं की डॉक्टर को इन दरिंदो ने अपनी हैवानियत का शिकार बनाया था.

शराब पीते हुए आरोपियों ने डॉक्टर को स्कूटी पार्क करते हुए देखा था और यह खतरनाक प्लान बना लिया था. स्कूटी की हवा निकालकर पहले मदद का बहाना किया और फिर मोबाइल छीन लिया.

इसके बाद चारों आरोपियों ने डॉक्टर के साथ बारी-बारी से दरिंदगी की और गला दबाकर हत्या कर दी.

ये यहीं नहीं रुके, हत्या के बाद शव को ट्रक में रखकर टोल बूथ से करीब 25 किलोमीटर दूर एक ओवरब्रिज के नीचे फेंक दिया और फिर पेट्रोल-डीजल छिड़कर आग के हवाले कर दिया.

सुबह एक दूध बेचने वाले ने जले हुए शव को देखकर पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद इस हैवानियत के बारे में पता चला.

पीड़िता के परिवार के साथ-साथ सोशल Media (Social Media) पर भी खुशी मना रहे हैं और हैदराबाद पुलिस को धन्यवाद कह रहे हैं. आरोपियों को मौत के घाट उतारने की खबर से स्कूली छात्राएं भी बेहद खुश नजर आईं.

बस से स्कूल जाते हुए कुछ स्कूली छात्राओं ने पुलिस को देखकर जश्न मनाया.

Read More On This Topic