जैसलमेर नगर परिषद चुनाव परिणाम में वार्ड नम्बर 41 के नाम रही सबसे बड़ी जीत

#Jaisalmer: वार्ड 41 के निवासियों ने नगर निकाय चुनाव की मतगणना में सबसे बड़ी जीत दर्ज कराकर एक जुटता का परिचय देकर एक मिशाल कायम की.


चुनाव के समय जहा एक और आपसी खीचतान जंहा रिश्तों में खटास पैदा करती है, वही वार्ड नम्बर 41 के वासियों ने एक तरफ़ा मतदान कर आपसी भाईचारे की मिशाल कायम की है.

वार्ड नम्बर 41 से कांग्रेस की सीट पर प्रेम कँवर ने अपनी उम्मीदवारी जताई थी जिसको लेकर सभी वार्ड वासियों ने एक राय होकर अपना मत व् समर्थन देकर पूर्ण बहुमत देने का वादा किया था.

जिस वादे को सभी वार्ड वासियों ने बखूबी निभा कर आपसी सामंजस्य दिखाया जिसकी बदौलत नगर निकाय के परिणाम में सबसे बड़ी जीत दर्ज की.

जैसलमेर: वार्ड 41 को निर्विरोध होने से रोकने के लिए बीजेपी को बेलने पड़े कई पापड़ 1

परिसीमन के बाद बना है अलग वार्ड

हाल ही में नगरपरिषद द्वारा परिसीमन करवाने के बाद अलग वार्ड नम्बर 41 नया वार्ड बना है जिसमे 336 मतदाता है.

मतदान के दिन 336 मतदाताओ में 263 लोगो ने अपने मतदान का प्रयोग किया जिसमे 248 मत कांग्रेस के पक्ष में तो वही मात्र 14 वोट बीजेपी के पक्ष में पड़े और एक नोटा को गया।

निर्विरोध पार्षद चुनने की जाहिर की थी मंशा

परिसिमन के बाद नया वार्ड बनने को लेकर जहाँ वार्ड वाशी खुश थे तो वही पहली बार अपना पार्षद निर्विरोध करने की मंशा जाहिर की थी जिसको लेकर सभी ने अपनी सहमती जताई थी

बीजेपी के लिए बना था मूंछ का सवाल

वार्ड नम्बर 20 में कांग्रेस के निर्विरोध प्रत्याशी की घोषणा के बाद वार्ड नम्बर 41 में भी कांग्रेस के पक्ष में निर्विरोध प्रत्याशी घोषित होता देख बीजेपी ने अपनी साख बचाने के लिए नाम वापसी के आखिरी मिनट तक अपने सभी घोड़े दौड़ा दिए जिसके चलते वार्ड नम्बर 41 से निर्विरोध पार्षद के सामने अपना प्रत्याशी तक बदल दिया था.

बीजेपी ने वार्ड 41 को निर्विरोध तो नहीं होने दिया पर सम्मानजनक वोट भी नहीं ले पाई।