Police Man Beaten By Villagers
Police Man Beaten By Villagers In Sankra Village

थानेदार की लापरवाही से सिपाहियों की जान पर बन आई, जैसलमेर एसपी ने सांकडा एसएचओ को किया निलंबित

सांकडा पुलिस बनी ” रणछोड़ “, दुसरे थानों ने संभाला मोर्चा

  • सांकड़ा थाने के हेड कॉन्स्टेबल पर हमले का मामला,
  • सांकड़ा एसएचओ जसराज पर गिरी गाज,
  • एसएचओ को किया निलम्बिंत,
  • एसपी डॉ किरन कंग ने जारी किया आदेश,
  • प्राइवेट गाड़ी में अपराधियों से भिड़ने,
  • बिना वर्दी व बिना हथियार के ड्यूटी पर रहने का मामला,
  • गंभीर मामला प्रकाश में आने पर एसपी डॉक्टर किरण कंग ने किया निलंबित

#Sankra/ Jaisalmer News: कहते है कि “दुश्मन को कभी कम मत समझो ” जैसलमेर के सांकडा पुलिस थाना के थानेदार और सिपाहियों को ये कहावत अच्छी तरह से समझ आ गयी होगी. जैसलमेर के सांकडा थाना पुलिस की चोरों के साथ मिलकर ग्रामीणों ने अच्छी पिटाई कर डाली.

ग्रामीणों की पिटाई से सांकडा पुलिस थाना का एक हैड कांस्टेबल हुकमाराम बुरी तरह घायल हुवा है वंही लापरवाही के मामले को देखते हुवे सांकडा थाना के एसएचओ जसराज को जैसलमेर एसपी डॉ. किरण कंग सिद्धू ने निलंबित कर पुलिस लाइन में लगा दिया है.

Sankra SHO Suspension Order

प्राप्त जानकारी के अनुसार पोकरण क्षेत्र में स्थित सांकडा कस्बे के पुलिस थाना में रविवार देर रात्रि को चोरी की वारदात अंजाम दिए जाने की जानकारी मिलने पर एसएचओ बिना वर्दी, बिना हथियार प्राइवेट गाडी लेकर चार सिपाहियों के साथ चोरो को पकड़ने निकल पड़ा.

सांकडा थानान्तर्गत प्रतापपुरा गाँव में एक घर में चोरों के छिपे होने की सूचना मिलने पर वंहा पहुंची पुलिस पर पहले से घात लगाये चोरों और ग्रामीणों ने हमला कर दिया.

बिना वर्दी और हथियार के असहाय पुलिस वाले दर्जन भर से ज्यादा लोगों के आगे अपने एक आरक्षक को चोरों के कब्जे में छोडकर भाग निकले जिसको बाद में बहुत बुरी तरह से पीटा गया.

बाद में अन्य थानों से जाब्ता बुलाकर घायल हैड कांस्टेबल को छुड़वाया गया वंही इस सारे मामले से पुलिस की बहुत किरकरी हुई है और एसएचओ की लापरवाही के कारण नाराज एसपी ने निलंबित कर पोखरण थानाधिकारी और एडिशनल एसपी को भेजकर कार्यवाही करने को कहा है.

सोमवार को सांकडा,खेलाना और प्रतापपुरा गाँव में भारी पुलिस बल तैनात रहा और पुलिस ने मारपीट के छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है बाकी दोषियों की तलाश जारी है.

बहरहाल इस वाकये से जंहा पुलिस की प्रतिष्ठा धूमिल हुई वंही क्षेत्र में अपराधियों के बढ़ते हौसले भी नजर आ रहे है जंहा वो पुलिस को ही सीधा निशाना बनाकर अपने गंदे धंधे कायम रखना चाहते है.