Locust Swarm Attack Jaisalmer

Jaisalmer News: जैसलमेर जिले में टिड्डियों के हमले पर jaisalmernews.com पर 2 नवंबर को पोस्ट की गई खबर टिड्डी नियंत्रण विभाग की कमाई होगी बंद! में हमने बताया था कि करोडो रूपये खर्च करने के बावजूद टिड्डी वालों की खानापूर्ति के चलते नाचना, मोहनगढ़, नोख और भारेवाला क्षेत्र में किसानों की फसलें तबाह हो गई है.

टिड्डी दल की घुसपैठ के पहले दिन से ही हम लगातार टिड्डी की स्थिति और खबरों से जैसलमेर के किसानो को और प्रशासन को अपडेट करते आ रहे है.

जैसलमेर जिला कलेक्टर नमित मेहता ने भी कृषि अधिकारियों को टिड्डी दल के पुख्ता प्रबंध करने के निर्देश दिए है.

ख़बर पर एक्शन लेते हुवे कृषि मंत्रालय ने स्थिति का आकलन करने के लिए उच्च स्तरीय टीम को टिड्डियों के हमले से प्रभावित इलाकों का दौरा करने के लिए भेज रहा है.

कृषि मंत्रालय के अनुसार पाकिस्तान के सिंध प्रांत से आई टिड्डियों ने जैसलमेर, जोधपुर, बाड़मेर, भारेवाला शाहगढ़, कच्छ, बीकानेर और लाठी, नाचना, सूरतगढ़, पोखरण और बीकानेर के खेतों में मूंगफली, धान, कपास, बाजरा की फसलों को बर्बाद कर दिया है.

इस मंगलवार को नोख क्षेत्र में फिर से टिड्डी दल देखा गया है.

कृषि राज्यमंत्री पुरुषोत्तम रूपाला ने अधिकारियों को जल्द से जल्द ठोस कदम उठाने के साथ-साथ से टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों की 24 घंटे निगरानी के आदेश दिये हैं.

सूत्रों के अनुसार सर्वे के बाद सरकार द्वारा टिड्डियों के हमले से प्रभावित किसानो को आर्थिक सहायता या मुआवजा राशि भी दी जा सकती है.