Connect with us

Hi, what are you looking for?

India

हेलीकॉप्टर ने टिड्डियों को मारने के लिए बाड़मेर के लिए उड़ान भरी

टिड्डियों-को-मारने-के-लिए-पहली-बार-हो-रहा-हेलीकाप्टर-का-उपयोग-:-तोमर

Greater Noida News। पाकिस्तान से आने वाली टिड्डियों (Locusts) को मारने के लिए एक हेलीकॉप्टर (Helicopter) मंगलवार को उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा से राजस्थान के बाड़मेर के लिए उड़ान भरा। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Union Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने हरी झंडी दिखाकर हेलीकाप्टर को रवाना किया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि टिड्डियों को मारने के लिए देश में पहली बार हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल हो रहा है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में वायुसेना के चार और हेलीकाप्टर इस काम में लगाए जाएंगे।

तोमर ने कहा कि वायुसेना से टिड्डी नियंत्रण में सहयोग मांगा गया था, लेकिन इसके लिए हेलीकाप्टर में लगने वाली मशीन की जरूरत है जिसका ऑर्डर दिया जा चुका है और आने वाले दिनों में जब ये मशीनें आ जाएंगी तो टिड्डी नियंत्रण अभियान के बेड़े में वायुसेना के चार हेलीकॉप्टर शामिल होने से और ताकत बढ़ जाएगी।

हेलीकॉप्टर ने टिड्डियों को मारने के लिए बाड़मेर के लिए उड़ान भरी 9

कृषि मंत्री ने कहा कि करीब 28 साल बाद पिछले साल भारत में टिड्डियां आई थीं, लेकिन राजस्थान, गुजरात के कुछ जिलों के अलावा अन्य राज्यों तक इसका कोई ज्यादा प्रकोप नहीं था और उस समय प्रभावी तरीके से नियंत्रण हो पाया, लेकिन इस साल फिर टिड्डियों के आने का अंदेशा था इसलिए मंत्रालय ने फरवरी में ही इससे निपटने की तैयारी शुरू कर दी थी।

Advertisement. Scroll to continue reading.

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन से माइक्रोनेयर मशीनें मंगाने का ऑर्डर पहले ही दे दिया गया था, लेकिन कोरोना के कहर से निपटने के लिए वहां लॉकडाउन होने के कारण मशीन की सप्लाई समय से नहीं हो पाई। तोमर ने बताया कि 60 माइक्रोनेयर मशीनों का ऑर्डर दिया गया था जिनमें से 15 आ चुकी हैं और बाकी 45 भी 11 जुलाई आ जाएंगी।

केंद्रीय मंत्री ने यहां उद्योग विहार स्थित इंडोकॉप्टर्स हेलीपैड से एक निजी हेलीकाप्टर को हरी झंडी दिखाकर टिड्डी नियंत्रण के लिए राजस्थान के बाड़मेर के लिए रवाना किया।

इस मौके पर केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री व बाड़मेर से सांसद कैलाश चैधरी और पूर्व केंद्रीय मंत्री व गौतमबुद्ध नगर से सांसद महेश शर्मा भी मौजूद थे। करीब 250 लीटर कीटनाशक लेकर उड़ान भरने वाला यह हेलीकाप्टर एक उड़ान में करीब 25 से 50 हेक्टेयर क्षेत्र को कवर कर सकता है। इसे राजस्थान के बाड़मेर के उत्तरलाई वायुसेना स्टेशन में तैनात किया जाएगा और वहां से बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर, जोधपुर व नागौर के रेगिस्तानी इलाके में टिड्डियों को मारने के लिए हवाई छिड़काव में इसका इस्तेमाल किया जाएगा।

तोमर ने कहा, इस बात का अंदेशा था कि इस वर्ष टिड्डी का प्रकोप गत वर्ष की तुलना में और अधिक होगा, इसलिए केंद्र सरकार पहले से ही इस तैयारी में लगी थी। केंद्र सरकार ने उच्चस्तरीय बैठक की, जिसमें सभी राज्यों के जनप्रतिनिधि व अधिकारी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री सहित अन्य सभी स्तर पर चर्चाएं की गई थी। राज्य व जिला प्रशासन भी जागरूकता के साथ काम कर रहे हैं और केंद्र सरकार के साथ उनका तालमेल बना हुआ है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

— आईएएनएस

For the latest news like The Jaisalmer News page on Facebook, & Twitter.

Advertisement