EWS reservation news jaisalmer

Jaisalmer news : राजस्थान सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण (Reservation for Economically Weaker Sections (EWS) ) में विभिन्न अव्यवहारिक शर्तों को हटाकर केवल 8 लाख तक की कुल वार्षिक आय को ही आधार मानने की घोषणा की हैं । जिस पर जैसलमेर में क्षत्रिय युवक संघ कार्यालय तनाश्रम ( Tanashram Shri Kshatriya Yuvak Sangh ) में श्री क्षात्र पुरूषार्थ फाउंडेशन (Shri Kshatra Purusharth Foundation) के कार्यकर्ताओं द्वारा खुशी मनाई गई ।

इस दौरान पुरुषार्थ से लोगो ने एक-दूसरे का मुंह मीठा करवाकर बधाई दी तथा क्षात्र पुरुषार्थ फाउंडेशन के प्रदेश सयोंजक यशवर्द्धन सिंह व सह संयोजक आज़ाद सिंहः राठौड़ का भी आभार जताया।

तारेंद्र सिंह झींझनियाली ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग को 10% आरक्षण दिए जाने के बाद राज्य सरकार द्वारा इसे लागू कर दिया गया था, लेकिन इसमें 5 एकड़ जमीन ग्रामीण क्षेत्र में व शहरी क्षेत्र में निर्धारित वर्ग 100 वर्गगज का आवास सहित अन्य और अव्यावहारिक शर्तें थी ।

जिस कारण आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा था जिसको लेकर श्री क्षात्रपुरूषार्थ फाउंडेशन द्वारा पिछले लंबे समय से लगातार सरकार से मांग की जा रही थी जनप्रतिनिधियों के माध्यम से विधानसभा में भी दबाव बनाया गया था

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार जताया

पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने शुक्रवार को EWS आरक्षण की अव्यवहारिक शर्तें हटाकर केवल 8 लाख की वार्षिक आय को ही आधार मानकर आरक्षण देने का निर्णय लिया है । जिस पर सभी कार्यकर्ताओं ने आभार जताकर खुशी व्यक्त की ।

इस मौके पर श्री क्षात्रपुरूषार्थ फाऊंडेशन के हरेंद्र सिंह, शिवेंद्र सिंह बेरसियाला, गिरधर सिंह जोगीदास का गांव,लूणसिंह महाबार,तने सिंह काठा सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।