charkha

जैसलमेर, 02 अक्टूबर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती वर्ष (Mahatma Gandhi Jayanti) समारोह में जैसलमेर में बुधवार, 02 अक्टूबर को गांधी सप्ताह का प्रभात फेरी, सर्वधर्म प्रार्थना, गांधीजी के प्रिय भजनों के साथ ही वृहत रक्तदान शिविर व श्रमदान के साथ भव्य आगाज हुआ।

प्रभातफेरी का आयोजन

गांधी सप्ताह के शुभारम्भ के अवसर पर बुधवार को जिला जिला प्रशासन एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण और सर्वोदय मण्डल जैसलमेर के संयुक्त तत्वावधान में गोपा चौक से प्रभात फेरी का आयोजन किया गया। इस प्रभात फेरी को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जैसलमेर के सचिव शरद तंवर ,मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश ,महात्मागांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक उम्मेदसिंह तंवर ने हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया। इस मौके पर उपखण्ड अधिकारी अजय, जिला रसद अधिकारी भारत भूषण गोयल, आयुक्त नगरपरिषद ब्रजेश राय, सचिव झब्बरसिंह, सह संयोजक रुपचंद सोनी, खेल अधिकारी राकेश विश्नोई, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बी.के.बारुपाल, पी.एम.ओ डॉ.जे.आर पंवार के साथ ही बॉस्केटबॉल अकादमी के खिलाड़ी, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के छात्रावासों के छात्र, स्कूली विद्यार्थियों ने भाग लिया।

gandhi chowk jaisalmer

यह रैली गोपा चौक से होती हुई मुख्य बाजार ,गांधी चौक से हनुमान चौराहा पर पहुंची। रैली के संम्भागियों ने स्वर्ण नगरी को पोलिथीनमुक्त बनाने के संदेश दिया वहीं महात्मागांधी अमर रहे के नारों से राष्ट्रभक्ति के संदेश को प्रसारित किया। रैली में बॉस्केटबॉल अकादमी के छात्रों ने प्लास्टिक हटाओ, जन-जीवन बचाओ , व स्वच्छता का नारों के माध्यम से आमजन को संदेश दिया। वहीं इस मौके पर नगरपरिषद द्वारा ’’सिंगल यूज प्लास्टिक व थर्माकॉल मुक्त ’’ अभियान की भी शुरुआत की।

गांधीदर्शन के सामने सर्वधर्म प्रार्थना व गांधीजी के प्रिय भजनों का कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसमें जिला कलक्टर नमित मेहता, पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग, जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल, नगरपरिषद सभापति श्रीमती कविता खत्री, संयोजक उम्मेदसिंह तंवर ने सर्वप्रथम गांधीजी की मूर्ति पर सूत माला पहना कर व पुष्प अर्पित कर श्रृद्वाजंलि दी।

इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार, पूर्व सभापति अशोक तंवर, संयोजक उम्मेदसिंह तंवर, खादी संस्थाओं से जुड़े किशनगिरी गोस्वामी, राजेन्द्र भोपत, मदनलाल भूतड़ा, खुशालाराम कबीरबस्ती, राजूराम प्रजापत समेत जिलाधिकारी ,नगरवासी व विद्यार्थीगण उपस्थित थे।

जिला कलक्टर मेहता ने गांधी जयंती पर सभी को बधाई देते हुए कहा कि महात्मागांधी के जीवन मूल्यों को हमें अपने जीवन में अंगीकार कर राष्ट्र के विकास के प्रति अपनी भूमिका निभानी है। उन्होंने गांधीजी के अहिंसा व स्वच्छता के अमूल्य विचारों को भी जीवन में उतार कर अपनाने का संदेश दिया एवं स्वच्छ भारत के सपने को स्वच्छता के माध्यम से साकार करने की सीख दी।

रामधून, प्रिय भजनों की प्रस्तुती

गांधी जयंती समारोह के शुभारम्भ के अवसर पर रामधून की प्रस्तुती की गई। इसमें खादी संस्था के रवि जोशी व अमर ने ’’रघुपति राघव राजाराम, पतित पावन सीताराम’’ के साथ ही ’’वैष्णवजन तो तेने कईए, पीर पराई जाने रे, पर दुःख उपकार करें, मन अभिमान न मान रे’’ व ’’दे दी हमें आजादी, बिना खड़ग बिना ढाल, साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल ’’व सबके लिये खुला है मंदिर से हमारा ,मतभेद को भूलाता मंदिर ये हमारा ’’ प्रिय भजनों की प्रस्तुती कर महौल को गांधीजी के विचारों से प्रवाहित कर दिया।

चरखे का जीवन्त प्रदर्शन, जिला कलक्टर ने भी चलाया चरखा

इस मौके पर गांधीदर्शन के आगे खादी संस्थाओं के माध्यम से कातिनों द्वारा चरखे के द्वारा सूत कातने का जीवंत प्रदर्शन किया गया। जिला कलक्टर नमित मेहता ,जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल , सभापति श्रीमती कविता खत्री ने भी गांधीजी के प्रिय चरखे से सूत कातने के जीवंत प्रदर्शन का अवलोकन किया। वहीं वे भी कातिनों के साथ बैठ कर चरखे को चलाने की सीख ली एवं चरखा चलाया।

श्रमदान का आयोजन ,हाथों से किया श्रमदान

गांधी जयंती के शुभारम्भ के अवसर पर महाराणा प्रताप मैदान व आसपास की गली में स्वच्छता के लिए श्रमदान किया गया। इस मौके पर जिला कलक्टर नमित मेहता , जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल , सभापति श्रीमती कविता खत्री ,मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश ,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ,उपखण्ड अधिकारी अजय ,उपायुक्त उपनिवेशन देवाराम सुथार , आयुक्त ब्रजेशराय सहित अन्य अधिकारियों ,कर्मचारियों ,समिति के संयोजक उम्मेदसिंह तंवर , सह संयोजक रुपचंद सोनी व नगरवासियों ने अपने हाथों से श्रमदान कर कचरे का संग्रहण किया एवं आमजन को स्वच्छता के लिए श्रमदान करने का संदेश दिया। इसके साथ ही लोगों को सीख दी कि वे भी सप्ताह में एकबार अपने गली-मौहल्लों में श्रमदान का आयोजन कर सफाई करें एवं स्वर्ण नगरी को सदैव स्वच्छ एवं साफ-सुथरा बनाए रखें। इसके साथ ही शहर को प्लास्टिक एवं पॉलिथीनमुक्त बनाने का भी संदेश दिया।