IPS DR. Kiran Kang Siddhu -Lady Singham
IPS DR. Kiran Kang Siddhu

कानून तोड़ने वालों को बख्शा नहीं जाएगा- एसपी किरण कंग

Jaisalmer News: सांकड़ा पुलिस पर आसामाजिक तत्वों के हमले से सख्त नाराज जैसलमेर एसपी डॉ. किरण कंग सिद्धू ने जबरदस्त एक्शन लिया है।

सूत्रों से खबर मिली है कि “लेडी सिंघम” के खौफ से अब हमवालरों में दहशत है। सांकड़ा पुलिस पर हमला करने वालों में से छह आरोपी सलाखों के पीछे पहुंच चुके है।

जैसलमेर के दबंग एडिशनल एसपी राकेश कुमार बैरवा जैसलमेर पुलिस की स्पेशल टीम के साथ पोकरण क्षेत्र का चप्पा चप्पा छान रहे है।

वंही पुलिस ने हमले के आरोपी छह लोगों मनोहर सिंह पुत्र उत्तम सिंह राजपूत, सुमेर सिंह पुत्र उत्तम सिंह, रघुवीर सिंह पुत्र जालम सिंह, स्वरूप सिंह पुत्र शिवनाथ सिंह चारो निवासी प्रतापपुरा तथा श्याम सिंह पुत्र जयसिंह निवासी रामगढ़ और शेख खां पुत्र मुरीद खान मुसलमान निवासी कुंडला को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है।

sankara police arrest 6 pepople for attack on police
sankara police arrest 6 pepople for attack on police

अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस टीमें जगह बजगह तलाश कर रही है।

निहत्थी पुलिस पर हमला कर बहादुरी दिखाने वालों को अब कंही मांगने से भी पानी नहीं मिल रहा। पुलिस कार्यवाही से बचने के लिए कई आरोपी फरार हो गए है।

कल की घटना से हताश पुलिस के जवानों में भी अपने एसपी और एडिशनल एसपी की काबिलियत देखकर नया उत्साह जाग गया है।

पुलिस के जवानों ने अपने अफसरों की तरह शपथ ले ली है कि कानून की रक्षा मरते दम तक करेंगे और आम जन की सुरक्षा करते रहेंगे।

जैसलमेर एसपी किरण कंग एक महिला होते हुए भी किस तरह से सतर्क रहती है और सख्त एक्शन लेती है ये जैसलमेर की जनता को वो दिखा चुकी है।

‘आम जन में विश्वास और अपराधियों में डर’ की कहावत को चरितार्थ करने वाली जैसलमेर एसपी सामान्यतया बहुत विनम्र नजर आती है परंतु जब कोई कानून के साथ खिलवाड़ करता है तो वो किसी पुरुष अधिकारी से भी ज्यादा सख्त मालूम पड़ती है।

सांकड़ा मामले में इस तरह चला घटनाक्रम

जैसलमेर के सांकड़ा थाना अन्तर्गत विंड मिल प्रोजेक्ट से रविवार देर रात आॅयल चोरी करके भाग रहे एक चोरो के गिरोहो को पीछा कर रही सांकड़ा थाना पुलिस दल पर ग्रामीणो व चोरो द्वारा अचानक हमला कर देने से एक पुलिस हैड कांस्टेबल गंभीर रुप से घायल हो गया जबकि बाकी एस.एच.ओ सहित अन्य पुलिस कर्मियों ने किसी तरह अपने को बचाया।

पुलिस अधीक्षक किरण कंग ने इस घटना की जानकारी मिलने पर सोमबार सुबह सांकड़ा पहुंची व इसे काफी गंभीरता से लेते हुवें पूरे प्रकरण में एस.एच.ओ सब इंस्पेक्टर जसराज की लापरवाही मानते हुवें उन्हें सस्पेंड कर दिया हैं।

एस.एच.ओ चोर गिरोह को पकड़ने के लिए बगैर वैपन लिये व बगैर वर्दी पहने सिविल डेªस में ही चला गया था जिसको पुलिस अधीक्षक ने गंभीरता से लिया हैं।

इस पूरे प्रकरण में पुलिस ने नामजद आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया हैं। अब तक इस मामले में 6 आरोपी गिरफतार किये जा चुके हैं, बाकी की तलाश की जा रही हैं।

पोकरण उपअधीक्षक मोटाराम स्वयं इस पूरे मामले में बाकी बचे हुवें दोषियों को पकड़ने में लगे हुवें हैं।

पुलिस अधीक्षक किरण केंग ने पूरे मामले की जानकारी देते हुवें बताया कि रविवार देर रात पोकरण उपखंड के सांकड़ा थाना के एस.एच.ओ जसराज को सूचना मिली कि प्रतापपुरा क्षेत्र में स्थित एक निजी कंपनी के विंड मिल प्रोजेक्ट से एक चोरो का गिरोह आॅयल चोरी करके भाग गया हैं।

इस पर एस.एच.ओ व पुलिस दल मौके पर पहुंचे। वहां पर गिरे हुवें तेल के निशानो को देखकर वे प्रतापपुरा गांव पहुंचे लेकिन वहां पर मौजूद ग्रामीणों ने व चोरो ने पुलिस दल पर हमला कर दिया।

ग्रामीणों की संख्या काफी अधिक थी जबकि पुलिस की टीम में 4-5 लोग ही थे।

ग्रामीणों ने लाठियों व अन्य तरीको से पुलिस पर हमला किया। इस दौरान बाकी पुलिस कर्मी व एस.एच.ओ किसी तरह बच गए लेकिन एक हैड कांस्टेबल हुकमा राम इन ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गया जिसके साथ ग्रामीणों ने लाठियों से मारपीट कर काफी गंभीर चोटे पहुंचाई और आरोपी मौके से फरार हो गए।

इस घटना में हैड कांस्टेबल हुकमा राम गंभीर रुप से घायल हुआ हैं जिन्हें सांकड़ा के चिकित्सालय में भर्ती करवाया हैं जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई हैं।