Ashok Gehlot Talk To Media In Jaipur
Ashok Gehlot Talk To Media In Jaipur

#Jaipur News: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने शुक्रवार को जयपुर में मीडिया प्रतिनिधियों से बात करते हुवे एसपीजी सुरक्षा मामले में बीजेपी पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया.

गहलोत ने मीडिया द्वारा पूछे गए सभी सवालों का जवाब दिया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अगर इन सब बातों का पता है तो उन्हें मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए.

सीएम अशोक गहलोत ने इंटरव्यू में क्या कहा?

ये बहुत ओछी राजनीति पर उतर आए हैं, बहुत ओछी, बहुत लो लेवल की राजनीति पर उतर आए हैं। जिस इंदिरा गांधी ने जान दे दी देश के लिए खालिस्तान नहीं बनने दिया, आतंकवाद का मुकाबला किया, इंदिरा गांधी की जान चली गई सरदार बेअंत सिंह जी थे मुख्यमंत्री जी थे, नेस्तनाबूत हो गया आतंकवाद, उनकी जान चली गई, राजीव गांधी की जान चली गई तो एसपीजी कवर जो है सोच समझकर के पार्लियामेंट के एक्ट के अंतर्गत मिला हुआ है और सिक्योरिटी तो मिली है जिंदगी बचाने के लिए और क्या है, इसमें कोई लाभ क्या है?

जो सिक्योरिटी मिलती है हम लोगों को वह अगर एसेसमेंट होता है कि अगर इस लेवल की सिक्योरिटी मिलनी चाहिए वह मिलती है, तो इसमें यह जो इस रूप की राजनीति कर रहे हैं वह यह इनकी मानसिकता का दिवालियापन है, प्रधानमंत्री जी को चाहिए वह हस्तक्षेप करें अगर गृहमंत्री अपने स्तर पर कोई फैसला कर रहे हैं तो प्रधानमंत्री महोदय को चाहिए वह इंटरफेयर करें इस प्रकार की हरकत करने का किसी को अधिकार नहीं होना चाहिए और प्रधानमंत्री की खुद की नॉलेज में है तो देश का दुर्भाग्य है।

सवाल: महाराष्ट्र के विधायक राजस्थान आ रहे हैं ऐसी सूचनाएं हैं…..


जवाब: हां सुना है आ रहे है और स्वागत है, जो हालात देश में बिगाड़ दिए बीजेपी ने मणिपुर के अंदर, गोवा के अंदर बहुमत था कांग्रेस के पास में, सरकार किसकी बनी बीजेपी की, कर्नाटक में सरकार को तोड़ने के लिए क्या-क्या किया अब सबकी पोल खुल रही है किस प्रकार वहां के मुख्यमंत्री खुद कह रहे हैं यह पूरा खेल जो है देश के गृहमंत्री अमित शाह जी का था उन्होंने सब की व्यवस्था करी मुंबई के अंदर, तो जिस देश के गृहमंत्री यह काम करते हो तोड़फोड़ के तो सब लोग चिंतित होना स्वभाविक है। मैंने सुना है शिवसेना ने भी जो उनके पार्टनर है उन्होंने भी अपने विधायकों को कोई होटल में ले जाकर के रखा है, तो यह स्थिति बनी हुई है।

सवाल: क्या लगता है महाराष्ट्र में सरकार, कौन सी सरकार बनेगी?


जवाब: यह तो राज्यपाल तय करेंगे क्या करना है क्योंकि सबने अपने पत्ते खोल दिए हैं, हमें तो मैंडेट मिला नहीं है, कांग्रेस ने भी कहा है और एनसीपी ने भी कहा है कि हमें मैंडेट मिला नहीं है इसलिए हम तो विपक्ष में बैठेंगे।

सवाल: आज पीसीसी में मीटिंग हुई है कि आर्थिक मंदी को लेकर के प्रदर्शन किया जाएगा….


जवाब: वह प्रोग्राम तो दे दिया है 5 तारीख से लगा कर के 15 तारीख तक दिया हुआ है पूरे देश के अंदर। आर्थिक मंदी से देश की पूरी अर्थव्यवस्था चौपट हो रही है, जीएसटी का जो आना चाहिए था रेवेन्यू वह भी नहीं आ पा रहा है क्योंकि इन्होंने जीएसटी गलत तरीके से लागू की थी, उसका खामियाजा पूरा देश भुगत रहा है, राज्य भुगत रहे हैं, हम लोग भुगत रहे हैं। राजस्थान में करीब 7000 करोड रुपए कम आएंगे तो आप बताइए कि विकास कैसे होगा? है जो स्थिति बनी हुई है देश के अंदर और देश के वित्त मंत्री जिनका नाम है निर्मला सीतारमण उनके पति कह रहे हैं कि इनको समझ ही नहीं है देश में अर्थव्यवस्था की, इस सरकार को समझ नहीं है। दूसरा उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू की जो सोच थी उसको इन्होंने समाप्त कर दिया, तीसरा उन्होंने कहा नरसिम्हा राव जी और डॉक्टर मनमोहन सिंह जी की जो पॉलिसी है उसको अपनाना चाहिए बचाना है देश को तो, अब इससे ज्यादा कौन क्या बात कह सकता है? यह स्थिति है।


सवाल: भी गुरु नानक जी का प्रकाश पर्व भी है और पाकिस्तान ने भी कहा था कि बिना वीजा के आएंगे पर उन्होंने एक और बयान दिया है कि वीजा ही लागू होगा…..


जवाब: यह तो दो सरकारों की आपस में बातचीत चल रही होगी हिंदुस्तान पाकिस्तान तो उस पर मेरा कोई कॉमेंट नहीं है भारत सरकार को चाहिए कि हमारे इंटरेस्ट में करना चाहिए…

Watch Full Video Of CM Ashok Gehlot Interview

Talked to media in Jaipur..ये बहुत ओछी राजनीति पर उतर आए हैं, बहुत ओछी, बहुत लो लेवल की राजनीति पर उतर आए हैं। जिस इंदिरा गांधी ने जान दे दी देश के लिए खालिस्तान नहीं बनने दिया, आतंकवाद का मुकाबला किया, इंदिरा गांधी की जान चली गई सरदार बेअंत सिंह जी थे मुख्यमंत्री जी थे, नेस्तनाबूत हो गया आतंकवाद, उनकी जान चली गई, राजीव गांधी की जान चली गई तो एसपीजी कवर जो है सोच समझकर के पार्लियामेंट के एक्ट के अंतर्गत मिला हुआ है और सिक्योरिटी तो मिली है जिंदगी बचाने के लिए और क्या है, इसमें कोई लाभ क्या है? जो सिक्योरिटी मिलती है हम लोगों को वह अगर एसेसमेंट होता है कि अगर इस लेवल की सिक्योरिटी मिलनी चाहिए वह मिलती है, तो इसमें यह जो इस रूप की राजनीति कर रहे हैं वह यह इनकी मानसिकता का दिवालियापन है, प्रधानमंत्री जी को चाहिए वह हस्तक्षेप करें अगर गृहमंत्री अपने स्तर पर कोई फैसला कर रहे हैं तो प्रधानमंत्री महोदय को चाहिए वह इंटरफेयर करें इस प्रकार की हरकत करने का किसी को अधिकार नहीं होना चाहिए और प्रधानमंत्री की खुद की नॉलेज में है तो देश का दुर्भाग्य है।सवाल: महाराष्ट्र के विधायक राजस्थान आ रहे हैं ऐसी सूचनाएं हैं…..जवाब: हां सुना है आ रहे है और स्वागत है, जो हालात देश में बिगाड़ दिए बीजेपी ने मणिपुर के अंदर, गोवा के अंदर बहुमत था कांग्रेस के पास में, सरकार किसकी बनी बीजेपी की, कर्नाटक में सरकार को तोड़ने के लिए क्या-क्या किया अब सबकी पोल खुल रही है किस प्रकार वहां के मुख्यमंत्री खुद कह रहे हैं यह पूरा खेल जो है देश के गृहमंत्री अमित शाह जी का था उन्होंने सब की व्यवस्था करी मुंबई के अंदर, तो जिस देश के गृहमंत्री यह काम करते हो तोड़फोड़ के तो सब लोग चिंतित होना स्वभाविक है। मैंने सुना है शिवसेना ने भी जो उनके पार्टनर है उन्होंने भी अपने विधायकों को कोई होटल में ले जाकर के रखा है, तो यह स्थिति बनी हुई है।सवाल: क्या लगता है महाराष्ट्र में सरकार, कौन सी सरकार बनेगी?जवाब: यह तो राज्यपाल तय करेंगे क्या करना है क्योंकि सबने अपने पत्ते खोल दिए हैं, हमें तो मैंडेट मिला नहीं है, कांग्रेस ने भी कहा है और एनसीपी ने भी कहा है कि हमें मैंडेट मिला नहीं है इसलिए हम तो विपक्ष में बैठेंगे।सवाल: आज पीसीसी में मीटिंग हुई है कि आर्थिक मंदी को लेकर के प्रदर्शन किया जाएगा….जवाब: वह प्रोग्राम तो दे दिया है 5 तारीख से लगा कर के 15 तारीख तक दिया हुआ है पूरे देश के अंदर। आर्थिक मंदी से देश की पूरी अर्थव्यवस्था चौपट हो रही है, जीएसटी का जो आना चाहिए था रेवेन्यू वह भी नहीं आ पा रहा है क्योंकि इन्होंने जीएसटी गलत तरीके से लागू की थी, उसका खामियाजा पूरा देश भुगत रहा है, राज्य भुगत रहे हैं, हम लोग भुगत रहे हैं। राजस्थान में करीब 7000 करोड रुपए कम आएंगे तो आप बताइए कि विकास कैसे होगा? है जो स्थिति बनी हुई है देश के अंदर और देश के वित्त मंत्री जिनका नाम है निर्मला सीतारमण उनके पति कह रहे हैं कि इनको समझ ही नहीं है देश में अर्थव्यवस्था की, इस सरकार को समझ नहीं है। दूसरा उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू की जो सोच थी उसको इन्होंने समाप्त कर दिया, तीसरा उन्होंने कहा नरसिम्हा राव जी और डॉक्टर मनमोहन सिंह जी की जो पॉलिसी है उसको अपनाना चाहिए बचाना है देश को तो, अब इससे ज्यादा कौन क्या बात कह सकता है? यह स्थिति है।सवाल: भी गुरु नानक जी का प्रकाश पर्व भी है और पाकिस्तान ने भी कहा था कि बिना वीजा के आएंगे पर उन्होंने एक और बयान दिया है कि वीजा ही लागू होगा…..जवाब: यह तो दो सरकारों की आपस में बातचीत चल रही होगी हिंदुस्तान पाकिस्तान तो उस पर मेरा कोई कॉमेंट नहीं है भारत सरकार को चाहिए कि हमारे इंटरेस्ट में करना चाहिए…धन्यवाद।

Geplaatst door Ashok Gehlot op Vrijdag 8 november 2019

जैसलमेर का नंबर #1 समाचार पोर्टल: The Jaisalmer News