पोकरण थाने में आत्महत्या का मामला: रामदेवरा सरपंच सहित दो आरोपी गिरफ्तार, परिजनों ने शव लेने से किया इनकार

Police Station Pokhran Jaisalmer

Ramdevra/Jaisalmer News: रविवार को पोकरण थाने में आत्मदाह कर सुसाइड करने वाले गिरधारी राम के परिजनों ने शव लेने से इंकार कर दिया है। पुलिस द्वारा रामदेवरा क्षेत्र की सोहन सिंह की ढाणी में परिजनों से समझाइश की जा रही है। मामले में रामदेवरा सरपंच (Ramdevra Sarpanch) सहित दो गिरफ्तारी हो चुकी है।

सूत्रों ने बताया कि जोधपुर में उपचार के दौरान युवक गिरधारी राम भील की मौत हो गई थी। सोमवार शाम को युवक का शव सोहन सिंह की ढाणी लाया गया था मगर परिजनों ने शव लेने से इंकार कर दिया। मंगलवार सुबह खबर लिखे जाने तक सोहनसिंह की ढाणी में एम्बुलेंस में ही शव पड़ा था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मौके पर पुलिस जाब्ता  तैनात है और पुलिस अधिकारियों द्वारा परिजनों से समझाइश की जा रही है। मृतक के परिजन  सभी नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी व अन्य मांगों पर अड़े है ।

भील समाज के कई नेता भी मौके पर मौजूद है, गौरतलब है कि खेत विवाद से आहत  गिरधारी राम ने दो दिन पूर्व पोकरण थाने में खुद को आग लगा ली थी घटना से परिजनों व भील समाज में रोष व्याप्त है ।

रामदेवरा सरपंच सहित दो आरोपी गिरफ्तार

मृतक गिरधारीलाल द्वारा दिए गए बयानों के आधार पर पुलिस थाना रामदेवरा में दर्ज मुकदमा में धारा 447,427,323,306, 143 भादस व 3(1),(ह),(त),(ल),2(ट) (ट) एससी एसटीएक्ट का अनुसंधान मोटाराम गोदारा डीएसपी पोकरण द्वारा किया जा रहा है।

एसपी डॉ अजयसिंह ने तुरंत कार्रवाई करने के आदेश दिए थे। इस पर डीएसपी पोकरण मोटाराम ने नामजद आरोपी रामदेवरा सरपंच समंदरसिंह पुत्र बाबूसिंह निवासी रामदेवरा हाल भवानीपुरा पोकरण व माधोसिंह पुत्र सोहनसिंह निवासी रामदेवरा को गिरफ्तार किया गया।