Sachin pilot wrote letter to state election commission for rajasthan panchayat election

Deputy CM Sachin Pilot has written a letter to the State Election Commission requesting that the Election Commission conduct elections with immediate effect, as the tenure of the panchayats is going to end in February.

Rajasthan Panchayat Election News: सरपंच चुनाव 2020 (Sarpanch Chunav) को लेकर राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने राज्य निर्वाचन आयोग( State Election Commission ) को पत्र (Letter) लिखकर कार्यकाल पूर्ण होने से पहले प्रदेश की सभी पंचायतों में पंच-सरपंच चुनाव (Panchayat Chunav) करवाने को कहा है.

डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि निर्वाचन आयोग तुरंत प्रभाव से चुनाव (rajasthan panchayat chunav) कराएं, क्योंकि पंचायतों का कार्यकाल फरवरी में खत्म होने जा रहा है.

सुप्रीम कोर्ट के स्टे के बाद राजस्थान में पंचायत चुनाव के चार चरणों में परिवर्तन

उन्होंने कहा कि ऐसे में 5 साल के भीतर चुनाव करवाने का जो दायित्व निर्वाचन आयोग जैसी संवैधानिक संस्थाओं का है उसे पूरा किया जा सके. पायलट ने कहा कि मार्च महीने में प्रदेश में बोर्ड की परीक्षाएं आने वाली है, ऐसे में राज्य निर्वाचन आयोग ( State Election Commission ) की जिम्मेदारी है कि वह जल्द चुनाव करवाएं क्योंकि चुनाव करवाने का काम निर्वाचन आयोग का ही है.

चुनाव करवाने के लिए निर्वाचन आयोग की जो भी जरूरत है, प्रदेश सरकार (Rajasthan Sarkar )उसे पूरी करने को तैयार है।

Sachin pilot letter to election commission for sarpanch election

राजस्थान पंचायत चुनाव 2020 -सरपंच और वार्डपंच के लिए चुनाव चिन्ह

आपकों बता दें डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Deputy CM Sachin Pilot) के पास ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग भी हैं. सचिन पायलट ने बताया कि 8 जनवरी को हाईकोर्ट (Rajasthan Highcourt ) के निर्णय पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के स्टे (Stey)के बाद अब पंचायत चुनाव (Gram Panchayat Election) के सभी रास्ते खुल चुके हैं.

पंचायत आम चुनाव-2020 पंच और सरपंच नामांकन हेतु आवश्यक दस्तावेज

पायलट ने राज्य निर्वाचन आयोग को लिखे पत्र में कहा कि panchayat election 2020 के लिए उनके विभाग ने पूरा काम कर लिया है, चाहे वह वार्डों का पुनसीमांकन हो या फिर नोटिफिकेशन के हिसाब से मंत्रालय की जो कार्रवाई हो. पंचायती राज विभाग (Panchayati Raj Department) ने अपना काम पूरा कर लिया है, अब निर्वाचन आयोग को चाहिए कि पंचायतों के 5 साल के कार्यकाल पूरा होने से पहले चुनाव हो जाएं.