jal sudha project
  • राजस्थान भर में पहला प्रयोग
  • छत्रैल राउमावि से गुरुवार को होगी जिले में शुरूआत
  • जिला कलक्टर करेंगे इस पायलट प्रोजेक्ट का शुभारंभ

जैसलमेर, 4 दिसम्बर/ विद्यार्थियों की सेहत सँवारने के लिए उनमें दिन भर में कुछ-कुछ समय के अन्तराल में पर्याप्त पानी पीने के प्रति जागरुकता संचार के लिए जिला कलक्टर नमित मेहता (IAS Namit Mehta) की पहल पर गुरुवार से जिला प्रशासन द्वारा जैसलमेर जिले में अभिनव नवाचार ‘‘ जल सुधा’’ का आगाज किया जाएगा। राजस्थान भर में विद्यार्थियों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टि से यह अपनी तरह का पहला प्रयोग है। 

जिला कलक्टर 5 दिसम्बर, गुरुवार को दोपहर बाद 2 बजे छत्रैल के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में विद्यार्थियों को पानी की बोतलें वितरित कर जैसलमेर जिले में इस नवाचारी पॉयलट प्रोजेक्ट का शुभारंभ करेंगे।

इसके अन्तर्गत स्कूली बच्चों को भामाशाहों सहयोग से अच्छी गुणवत्ता वाली बोटल्स प्रदान की जाएंगी।  जिले में यह अभियान पहले पहल पायलट प्रोजेक्ट के रूप में सरकारी स्कूलों में शुरू किया जाएगा जिसमें प्रयोग के तौर पर प्रथम चरण में 3 राजकीय स्कूलों को लिया जा रहा है।

इसमें कक्षा एक से लेकर 12 वीं तक अध्ययनरत करीब 500 से अधिक विद्यार्थियों को पानी की बोतलें दी जाएंगी और उनमें स्कूल टाईम में पर्याप्त पानी पीने की आदत डाली जाएगी। इसके लिए प्रातः 10 बजे से शाम 4 बजे तक समय वाली स्कूलों में क्रमिक अन्तराल के रूप में प्रातः 11 बजे, मध्याह्न 12 बजे एवं अपराह्न 3 बजे दो-दो मिनट का वाटर ब्रेक होगा, जिसमें विद्याथी अपने पास उपलब्ध वाटर बोतल से पानी पियेंगे। इस तरह स्कूली बच्चों में कुछ-कुछ समय के अन्तराल में पानी पीने की आदत विकसित होगी।

सेहत के लिए जरूरी है पानी

पानी पीना सेहत के लिए नितान्त आवश्यक है और कुछ-कुछ अन्तराल में पानी पीने से शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति होती रहती है, जिससे मानसिक एवं शारीरिक विकास को बल प्राप्त होता है तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता में अभवृद्धि होती है। लेकिन बच्चों में पर्याप्त पानी पीने की आदत नहीं होने के कारण सेहत पर असर पड़ता है। इसी के मद्देनज़र बच्चों में कुछ-कुछ समय के अन्तराल में पानी पीने की आदत विकसित करने की दृष्टि से जिला प्रशासन ने यह अभिनव पहल की है।

जिला कलक्टर नमित मेहता (IAS Namit Mehta) ने बताया कि वाटर बोटल्स वितरण और बच्चों में पेयजल पान की आदत विकसित करने के लिए चलाए जाने वाले इस नवाचारी अभियान के परिणामों को देखकर आने वाले समय में अन्य सरकारी एवं निजी स्कूलों में भी यह प्रयोग किया जाएगा।

मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सत्येन्द्र व्यास ने बताया जिला कलक्टर नमित मेहता (IAS Namit Mehta) 5 दिसम्बर, गुरुवार को छत्रैल के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में दोपहर 2 बजे आयोजित समारोह में स्कूली बालिकाओं को वाटर बोटल्स वितरित कर जैसलमेर जिले में ‘जल सुधा’ अभियान का शुभारंभ करेंगे।

जिला शिक्षा अधिकारी(मुख्यालय) नवल गोयल ने बताया कि इसके अन्तर्गत गुरुवार को जिले के 3 विद्यालयों की में विद्यार्थियों को पानी की बोतलों का वितरण किया जाएगा। इनमें राउमावि कीता, राउमावि छत्रैल मेंं तथा राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय लाणेला शामिल हैं।

Read More On This Topic