ठाणे की एथलीट एवरेस्टिंग रनिंग चैलेंज पूरा करने वाली पहली महिला

ठाणे-की-एथलीट-एवरेस्टिंग-रनिंग-चैलेंज-पूरा-करने-वाली-पहली-महिला

मुंबई, 11 जनवरी । ठाणे की एक एथलीट एवरेस्टिंग रनिंग चैलेंज (ईआरसी) को पूरा करने वाली भारत की महिला बन गई हैं। वहीं एक भारतीय पुरुष ने इस चैलेंज को सबसे तेजी से पूरा किया। आयोजकों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

ईआरसी को पूरा करने की शुरुआत पांच एमेच्योर एथलीट्स ने शुक्रवार से रायगढ़ से की थी। उन्होंने शानिवार रात और रविवार सुबह में इसे पूरा कर लिया।

37 साल की माहेदाबिन एस. अजमानवाला रविवार को पहली महिला बन गई हैं, जिन्होंने यह रेस पूरी की। ग्रुप के कोच मनीष जायसवाल ने शनिवार को देरी से इसे खत्म करते हुए राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया।

स्नेल्स2बोल्ट नाम के फिटनेस ग्रुप ने इसे आयोजित किया था। ईआरसी की मुश्किल ट्रायल में प्रतिभागी को बिना रुके 8.849 मीटर एलिवेशन या माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई के बराबर की दूरी तक भागना होता है।

ईआरसी के लिए इस बार माथेरान की पहाड़ी को चुना गया था, जिसका एलिबेशन 700 मीटर है, जहां रनर्स को 6.70 किलोमीटर ऊपर चढ़ना था और फिर लौटकर अनाा था और ऐसा 14-15 बार करना था और तब तक करना था जब तक माउंट एवरेस्ट के बराबर की दूरी पूरी न हो जाए।

आईटी इंजीनियर जायसवाल ने 91 किलोमीटर रनिंग और 9.183 मीटर की ऊंचाई को 18 घंटे 58 मिनट में पूरा किया और नया भारतीय रिकार्ड बनाया।

उन्होंने कहा, हमें जब भूख लगती है तो हमें दौड़ते हुए ही खाना होता है, क्योंकि रिकवरी सेशन के अलावा आराम का समय नहीं मिलता है। इस दौरान दो रातें हमने दौड़ते हुए गुजारीं और 8,849 का इलेवेशन पूरा किया

जायसवाल ने कहा कि सभी प्रतिभागियों ने आठ महीने तक इसे लेकर कड़ी ट्रेनिंग की थी।

अजमानवाला ने 92 किलोमीटर की दूरी और 9.948 मीटर एलिवेशन को 34 घंटे और 39 मिनट में पूरा किया।

तीन अन्य लोग जिन्होंने शुक्रवार शाम को ईआरसी की शुरुआत की थी वे तीनों-क्वीने सिल्वेरिया, प्रशांत राणे और नरेंद्र रानावत रेस पूरी नहीं कर पाए।

–आईएएनएस

एकेयू/एसजीके