Paris समझौते को धरातल पर उतारने की दिशा में काम करेंगे 14 मंत्रालयों के अफसर

Paris-समझौते-को-धरातल-पर-उतारने-की-दिशा-में-काम-करेंगे-14-मंत्रालयों-के-अफसर

नई दिल्ली, 2 दिसंबर। जलवायु परिवर्तन को लेकर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने अहम कदम उठाया है। मंत्रालय के सचिव की अध्यक्षता में Paris समझौते (एआईपीए) को धरातल पर उतारने के लिए एक उच्च-स्तरीय अंतर-मंत्रालयी समिति का गठन किया गया है। जिसमें 14 मंत्रालयों के अफसर शामिल हैं।

Paris समझौते का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन के मामलों पर देशों के बीच समन्वय बनाकर काम करना है। Paris समझौते के तहत भारत अपने राष्ट्रीय निर्धारित योगदान (एनडीसी) सहित Paris समझौते के तहत अपने दायित्वों को पूरा करने की दिशा में अग्रसर है।

चौदह मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी, Paris समझौते की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए जलवायु लक्ष्यों की निगरानी, समीक्षा के लिए समय-समय पर अपडेट जानकारी प्राप्त करेंगे। Paris समझौते के आर्टिकल 6 के तहत परियोजनाओं या गतिविधियों पर विचार करने के लिए दिशानिर्देश तैयार करना, कार्बन मूल्य निर्धारण, बाजार तंत्र पर दिशानिर्देश जारी करना और अन्य समान उपकरण जिनका जलवायु परिवर्तन पर असर पड़ता है। यह जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में निजी क्षेत्र के साथ-साथ बहु और द्विपक्षीय एजेंसियों के योगदान पर ध्यान देगा और राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के साथ उनके जलवायु कार्यो को संरेखित करने के लिए मार्गदर्शन प्रदान करेगा। साल 2021 Paris समझौते के क्रियान्वयन की शुरूआत के लिए याद किया जाएगा।

–आईएएनएस

एनएनएम/एएनएम