कुत्ते को घर के सामने घुमाने से मना करने पर विधवा शिक्षिका की हत्या

कुत्ते-को-घर-के-सामने-घुमाने-से-मना-करने-पर-विधवा-शिक्षिका-की-हत्या

जयपुर, 12 जनवरी । राजस्थान के जयपुर में एक चौंकाने वाली घटना में, एक विधवा सरकारी स्कूली शिक्षिका को उसके पड़ोसी ने इसलिए मार डाला, क्योंकि उसने अपने घर के सामने उसे कुत्ता घुमाने से मना किया था। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

55 साल की विद्या अपने पति के कुछ साल पहले गुजर जाने के बाद अकेली रह रही थीं। उसका बेटा मध्य प्रदेश के भोपाल में एक आईटी इंजीनियर के रूप में काम करता है। उनके भाई युगंतार शर्मा राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं, जो जयपुर में एसडीएम के रूप में कार्यरत हैं।

विद्या छुट्टी पर थीं क्योंकि फरवरी में उनके बेटे की शादी होनी थी।

अपराध का पता तब चला जब उन्होंने सोमवार सुबह अपने सोशल मीडिया अकाउंट को ऑपरेट नहीं किया। उनके स्कूल के स्टाफ ने फिर उनके पड़ोसियों को फोन किया, जिन्होंने एक युवक को यह जांचने के लिए भेजा कि क्या उनके साथ सब ठीक है।

युवक उनके घर की छत पर गया और सुबह करीब 8.30 बजे उनका शव रेलिंग से लटकते देखा। उसने उनके परिवार को सूचित किया, जिसके बाद पुलिस को बुलाया गया।

पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज चेक किए और पड़ोसियों से भी पूछताछ की। पुलिस ने पाया कि विद्या सोमवार सुबह दूध लाने के लिए निकली थी और पड़ोसी के एक पालतू कुत्ते को लेकर पड़ोसी के साथ उनकी कहासुनी हुई थी।

पुलिस को विद्या के पड़ोस में रहने वाले दो भाइयों की संलिप्तता पर संदेह हुआ और उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया। उनमें से एक, कृष्ण कुमार के चेहरे पर खरोंचें थीं और उसने कहा कि अपने पालतू कुत्ते के साथ खेलते समय उसे ये खरोंचे लगीं।

कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने स्वीकार किया कि उसने विद्या की दुपट्टे से गला घोंट कर हत्या कर दी और बाद में अपराध को आत्महत्या का मामला दिखाने के लिए शव को रेलिंग से लटका दिया।

उसने पुलिस को बताया कि विद्या ने उसे तब पहचान लिया था जब वह छत से उसके घर में घुसा और जब उसने उनका गला घोंटने का प्रयास किया, तो शिक्षिका द्वारा खुद को बचाने के संघर्ष के दौरान उसके चेहरे पर खरोंच लग गई।

–आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी