कोरोना टीका लगाने में China और America में क्या अंतर है

कोरोना-टीका-लगाने-में-China-और-America-में-क्या-अंतर-है

बीजिंग, 11 जनवरी । हाल में America में भी कोरोना वैक्सीन लगाने का काम शुरू हो चुका है। यह महामारी में फंसे अमेरिकी लोगों के लिए अच्छी खबर है, लेकिन अब तक वैक्सीन लगाने का काम अनुमान से धीमा रहा और इसमें गड़बड़ी की स्थिति सामने आई है।

हम यहां कुछ उदाहरण दे रहे हैं। America के कुछ क्षेत्रों में लोग पंजीकरण करवा कर वैक्सीन लगा सकते हैं। लेकिन लोगों की संख्या ज्यादा होने के कारण बुकिंग वाली वेबसाइट क्रैश हो गयी और बुकिंग लाइन नहीं जोड़ी जा सकी है। कुछ क्षेत्रों में पहले आएं पहले पाएं के नियम से टीका लगाया जाता है, इसलिए बुजुर्गों समेत सभी लोगों को पूरी रात लाइन में इंतजार करना पड़ता है।

आम लोगों को टीका नहीं मिल पा रहा है, पर कुछ विशेष अधिकार वाले लोग टीका लगा चुके हैं। America के कई सांसदों ने पहले ही टीके लगाने के फोटो जारी किए। आयोवा की रिपब्लिक सीनेटर जोनी अर्नस्ट ने पिछले 20 दिसंबर को घोषणा की कि उन्होंने कोरोना वैक्सीन लगायी है। तो क्या चिकित्सक, फायरमैन, पुलिसकर्मी और अध्यापक जैसे कर्मियों के लिए सांसदों को टीका लगाने में प्राथमिकता देनी चाहिए? क्या यह निष्पक्ष है?

सांसदों के अलावा, अमीर लोगों को भी पहले वैक्सीन लगाने का मौका मिला। वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार कैलिफोर्निया के अस्पतालों को काफी ज्यादा अमीर लोगों के टीका लगाने के अनुरोध मिले हैं। वहीं यूसीएलए मेडिकल सेंटर ने चिकित्सा सेवा कार्ड की बिक्री शुरू की। उन्होंने कहा कि जिन ग्राहकों ने कार्ड खरीदे हैं, उन्हें सबसे पहले टीके मिलेंगे।

इसे अलावा, टीके की सुरक्षा पर भी लोगों का ध्यान खींचा गया। अमेरिकी नर्स फाउंडेशन के सर्वेक्षण के अनुसार पूरे America में सिर्फ 34 प्रतिशत नर्सें टीका लगवाना चाहती हैं। सर्वेक्षण में शामिल 79 प्रतिशत नर्सों का विचार है कि अब तक चिकित्सकों को वैक्सीन की सुरक्षा और बुरे असर के बारे में पर्याप्त सूचनाएं नहीं मिली हैं।

America में कोरोना वैक्सीन के वितरण और भंडारण में भी मुश्किल आई हैं। इन अव्यवस्थाओं ने America की चिकित्सा व्यवस्था में मौजूद समस्या को उजागर किया है। इसमें China की श्रेष्ठता फिर से दिखती है। अब China के विभिन्न क्षेत्रों में कोरोना वैक्सीन लगाने का काम सुचारु ढंग से चल रहा है।

चीनी राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि China में टीका लगाने की संपूर्ण योजना बनायी गयी है। सभी नागरिक मुफ्त में टीका लगाएंगे, सभी फीस चिकित्सा बीमा कोष और सरकार उठाएगी। सबसे पहले कोल्ड चेन परिवहन, पोर्ट संगरोध, जहाज पायलट, विमानन सेवा, ताजा खाद्य बाजार, सार्वजनिक परिवहन, चिकित्सा और रोग नियंत्रण समेत मुख्य कर्मचारियोंको वैक्सीन लगायी जाएगी।

आंकड़ों के अनुसार China ने कोरोना वैक्सीन के कुल 90 लाख इंजेक्शन लगाये हैं। लगाने वालों में कोई गंभीर प्रभाव नजर नहीं आया है। China के कोरोना टीके सुरक्षित हैं।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

–आईएएनएस