गाजीपुर मुर्गा मंडी बंद करने से पैदा हुई घबराहट : गिरिराज सिंह

गाजीपुर-मुर्गा-मंडी-बंद-करने-से-पैदा-हुई-घबराहट-:-गिरिराज-सिंह

नई दिल्ली, 11 जनवरी । केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने गाजीपुर मुर्गा मंडी बंद करने को लेकर दिल्ली सरकार की तीखी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने गाजीपुर मुर्गा मंडी बंद करके लोगों में बर्ड फ्लू को लेकर घबराहट पैदा की है।

केंद्रीय पशुपालन, मत्स्यपालन एवं डेयरी मंत्री गिरिराज सिंह ने यहां संवाददाताओं को बताया कि, बर्ड फ्लू के प्रकोप के संबंध में सभी राज्यों को 22 अक्टूबर 2020 को ही एडवायजरी जारी करके एहतियात बरतने के निर्देश दिए जा चुके हैं, लेकिन दिल्ली सरकार ने उस एडवायजरी और बाद में लिखे गए पत्रों पर ध्यान न देकर गाजीपुर मुर्गा मंडी बंद करने का फैसला लिया। जिससे बर्ड फ्लू को लेकर लोगों में घबराहट पैदा हो गई।

उन्होंने कहा कि, इस घबराहट के कारण पोल्ट्री कारोबार ही नहीं पोल्ट्री फीड में इस्तेमाल होने वाले जींस मसलन मक्का और सोयाबीन के दाम में भी गिरावट आ गई है, इस तरह किसानों को भारी नुकसान हुआ है।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह यहां संवाददाताओं से बात कर रहे थे। कोरोना के बाद अब बर्ड फ्लू को लेकर पैदा हुई घबराहट से देश के पोल्ट्री इंडस्ट्री पर पड़ने वाले असर पर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने कहा, अफवाहों को नजरंदाज करके जागरूकता फैलाने की जरूरत है। विशेषज्ञ बताते हैं कि 70 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान पर खाद्य पदार्थ को पकाने पर बर्ड फ्लू के वायरस का कोई खतरा नहीं रहता है, इसलिए अंडे व चिकन खाने से घबराने की जरूरत नहीं है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बर्ड फ्लू देश में कोई नई बीमारी नहीं है, 2015 से हर साल राज्यों में इसके मामले देखने को मिल रहे हैं और इसकी रोकथाम के लिए जो उपाय हैं उन पर अमल किया जाता है।

उन्होंने बताया कि, भारत में पहली बार बर्ड फ्लू यानी एवियन इन्फ्लूएन्जा के मामले 2006 में प्रकाश में आए और यह बीमारी खासतौर से विदेशों से आने वाले प्रवासी पक्षियों से फैलती है, इसलिए केंद्र सरकार ने जंगली और घरेलू दोनों तरह के पक्षियों में इसकी रोकथाम के कारगर उपाय पहले ही तैयार कर लिए हैं, जहां कहीं भी इसके मामले देखने को मिलते हैं वहां पर उन उपायों को अमल में लाया जाता है।

इस मौके पर मौजूद पशुपालन विभाग के अधिकारी डॉ. ओ. पी चौधरी ने जानकारी दी कि, इस साल अब तक देश में अब तक 10 राज्यों में बर्ड फ्लू के मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश, केरल, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, हरियाणा और दिल्ली में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है, जिनमें से सिर्फ हरियाणा और महाराष्ट्र में पोल्ट्री में पुष्टि हुई है। केरल में बतख और दिल्ली में भी बतखों में पुष्टि हुई है, बाकी राज्यों में कौवों और प्रवासी पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है।

अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, प्रभावित राज्यों में से उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में राज्य के भीतर पोल्ट्री के परिवहन पर रोक लगा दी गई है, जबकि दिल्ली में प्रमाणिक स्वास्थ्य कार्ड के साथ ही पोल्ट्री बर्ड के प्रवेश की अनुमति है।

भारत की पोल्ट्री इंडस्ट्री का कारोबार एक साल पहले करीब 1.25 लाख करोड़ रुपये का था। मगर, कारोबारी बताते हैं कोरोना काल में फैली अफवाह के चलते यह घटकर आधा रह गया है और अब बर्ड फ्लू के खौफ से बीते एक सप्ताह में पोल्ट्री इंडस्ट्री बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

–आईएएनएस

पीएमजे/एएनएम