एससीईआरटी और डाईट में पदों की संख्या 240 से बढ़ाकर 700 की गई

एससीईआरटी-और-डाईट-में-पदों-की-संख्या-240-से-बढ़ाकर-700-की-गई

नई दिल्ली, 14 जनवरी । दिल्ली सरकार ने एससीईआरटी और डाईट में अकादमिक संकाय के पदों की संख्या 240 से बढ़ाकर 700 से अधिक कर दी है। इससे इन संस्थानों को अपने उद्देश्य बेहतर ढंग से पूरा करना संभव होगा। दिल्ली एकमात्र राज्य है जिसने एससीईआरटी और डाइट में वेतनमान बढ़ाया है।

दिल्ली सरकार के मुताबिक वह ऐसे टीचर्स तैयार करना चाहती है जो बच्चों में सवाल पूछने की आदत डाल सकें। अभी तक जो खोज लिया गया है, उसके अधूरेपन को खोजने की आदत बच्चों में डाल सकें।

उपमुख्यमंत्री ने यह बात गुरुवार को एससीईआरटी और डाइट के पुनर्गठन पर आयोजित कार्यक्रम में कही। उन्होंने कहा, एससीईआरटी को टीचर्स ट्रेनिंग में अहम भूमिका निभानी है। किसी भी देश में शिक्षा का स्तर किस ऊंचाई तक बढ़ सकता है, यह बात सिर्फ टीचर्स के प्रयासों पर निर्भर करती है। दुनिया के जिन देशों में एजुकेशन काफी शानदार हो रही है, उनमें यही देखा गया है। उन देशों ने अपने टीचर्स की ट्रेनिंग पर काफी ध्यान दिया है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने भी पिछले कई वर्षों में टीचर्स ट्रेनिंग पर बहुत काम किया है। अब हमने एससीईआरटी में पोस्ट और सैलरी बढ़ाई है ताकि प्रतिभा को सम्मान मिल सके। उन्हें यूजीसी स्केल दिया गया है। देश में एकमात्र दिल्ली है जहां एससीईआरटी को यह सम्मान मिला है।

उन्होंने कहा कि बच्चों को अच्छी शिक्षा देकर अच्छे मुकाम तक पहुंचाने में टीचर्स की सबसे अहम भूमिका होती है। यह पूरी दुनिया में देखने को मिला है। इसके लिए अच्छा इंफ्रस्ट्रक्चर, अच्छा माहौल और वेतन सुविधा जरूरी है।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में शिक्षा सुधार की विभिन्न पहल में एससीईआरटी और डाइट का पुनर्गठन शामिल है। इसमें एससीईआरटी के 509 पदों को बढ़ाकर 1295 पद करना और एनसीईआरटी के अनुरूप वेतनमान और पदनाम की व्यवस्था करना शामिल है।

–आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम