Banswara News: बांसवाड़ा सीआई अखिलेश कुमार (Banswara CI Akhilesh Kumar), उनकी पत्नी ममता, सीआई के दोस्त विनय यादव और परिचित महिला जितेंद्र कुंवर की सड़क दुर्घटना में मौत (Death) हो गई। अखिलेश जयपुर में छुट्टियां बिताने के बाद अपने मौसेरे भाई विनय यादव और दोनों की पत्नियों के साथ कार से जयपुर से बांसवाड़ा लौट रहे थे।

प्रतापगढ़ के सुहागपुरा थानांतर्गत NH 113 पर पाड़लिया गांव में मंगलवार रात करीब पौने तीन बजे कार और ट्रेलर की आमने-सामने भिड़ंत हो गई थी। दुर्घटनाग्रस्त कार में एयर बैग की सुविधा थी, लेकिन वाहनों की रफ्तार इतनी थी कि एयरबैग भी काम नहीं काम नहीं आए। एयर बैग खुले, लेकिन वे भी फट गए।

कार का अगला हिस्सा ट्रेलर में घुस गया। दुर्घटना के बाद पास ही ढाबा संचालक ने पुलिस और एंबुलेंस को हादसे के बारे में अवगत कराया। इस पर रात करीब पौने 3 बजे मौके पर पहुंची पुलिस और एंबुलेंस कर्मियों ने एंबुलेंस में रखे सरिया और सब्बल से ट्रोले में फंसे कार के अगले हिस्से को काटकर मृतकों को बाहर निकाला।

ट्रक और कार की आमने-सामने हुई भिड़ंत के बाद ट्रक चालक मौके से फरार हो गया है। घटनास्थल पर कार में शराब की बोतल और कोल्डड्रिंक की बोतल भी मिली। सूत्रों की माने तो कार सवार बांसवाड़ा सीआई अखिलेश सिंह और उनके साथी भी शराब के नशे में धुत थे।

सीआई अखिलेश पंड्या अलवर के बहराेड़ के रहने वाले थे। दाे दिन से अवकाश पर थे। बुधवार काे ही उनकी ज्वाॅइनिंग थी। अखिलेश बांसवाड़ा में ढाई साल से कार्यरत थे। वह महिला थानाधिकारी, एसपी कार्यालय में सेवा दे चुके थे। फिलहाल वह मानव तस्करी विरोधी यूनिट के प्रभारी थे। उनका परिवार जयपुर में रहता है। दाे बेटे है जिनमें से एक बैंगलूर में है जबकि दूसरा बेटा और मां जयपुर में ही रहते हैं।