Jaisalmer News: जैसलमेर की विश्वप्रसिद्ध भादरिया गौ शाला के पास कल गायों के शव मिलने का मामला ठंडा नहीं हुवा की करीब आधा दर्जन हिरणों के कंकाल मिल गए है, गौ वंश और वन्य जीवों की लगातार हो रही मौतों और विभाग की उदासीनता के कारण क्षेत्र के वन्यजीव प्रेमी गुस्से में है. गुरुवार को सुबह अखिल भारतीय जीवरक्षा विश्रोई सभा के तहसील संयोजक राधेश्याम पेमाणी सहित अन्य वन्यजीवप्रेमी भादरिया के आसपास वन्यजीवों की देखभाल के लिए भ्रमण कर रहे थे तभी उन्हें क्षत विक्षत हालात में आधा दर्जन से अधिक चिंकारा हरिणों के कंकाल मिले.

वन्यजीवप्रेमियों की सूचना पर वन विभाग के क्षेत्रीय वन अधिकारी कानसिंह मेड़तिया, वनरक्षक हमीरसिंह, तगसिंह, बागसिंह, गेपराराम, नाथूसिंह मौके पर पहुंचे. उन्होंने बिखरे हरिणों व कुछ गिद्धों के शवों व कंकालों को एकत्र कर अपने कब्जे में लिया.लाठी पशु चिकित्सालय में चिकित्सक का पद रिक्त होने के कारण पोस्टमार्टम के लिए कंकाल व शव पोकरण पशु चिकित्सालय ले जाए गए.