जैसलमेर ,17 जुलाई। उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास विभाग जैसलमेर राजेन्द्र कुमार चौधरी के सानिध्य में पोषणअभियान के अन्तर्गत संबंधित अभ्यास पद्धत्ती की उपरी आहार एवं विविधतापूर्ण भोजन के विषय पर जिला स्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन पंचायत समिति जैसलमेर के बैठक हॉल में किया गया।

कार्यशाला के अवसर पर उपनिदेशक राजेन्द्र कुमार चौधरी ने मानदेय कर्मियों के रिक्त पदों को भरने व आंगनवाड़ी केन्द्रों पर दी जाने वाली सेवाएं पूरक पोषाहार, गर्म पोषाहार, टीकाकरण, -शालापूर्व शिक्षा समयबद्ध तरिके से सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिये साथ ही पोषण अभियान के तहत सामुदायिक कार्यक्रमों के आयोजन करवाने, मानदेय कर्मियों का समय पर भुगतान करने के निर्देश दिये.

अमेजन इंडिया पर आज का शानदार ऑफर देखें , घर बैठे सामान मंगवाए  : Click Here

राज्य स्तर से प्रशिक्षित डिस्ट्रीक रिसोर्स ग्रुप के सदस्य सीडीपीओ जैसलमेर हनुमानप्रसाद गौतम ने बताया कि 6 माह पूर्ण कर चुके बच्चों को मां के दूध के साथ-ंसाथ सभी पोषक तत्वों से पूर्ण भोजन की शुरूआत करना अनिवार्य है, जैसे खिचड़ी, दाल, हरी सब्जियां, फल, दूध, दही, पनीर इत्यादि सेवन करने का सुझाव दिया, स्नेहलता शर्मा ने 6 माह पूर्ण कर चुके बच्चों को उपरी आहार की शुरूआत करवाने के लिये आंगनवाडी कार्यकर्ताओं, आशाओं को गृह भेट करवाने के बारे में जानकारी प्रदान की गई।

महिला अधिकारिता विभाग की यूनीशेफ के सहयोग से कार्यरत डिस्ट्रीक्ट कॉडिनेटर सरिता ने बाल विवाह रोकने व उससे होने वाले दुष्परिणामों से अवगत करवाया उक्त कार्यशाला में कैलाश राम भाटी अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी, जिला समन्वयक एनएनएम अर्जुनसिंह, स्वस्थ भारत प्रेरक चेतन यादव समस्थ एनएनएम कार्मिक, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अभिषेक श्रीवास्तव, सुमित जोशी, महेन्द्र पुरोहित पिरामल फाउंडेशन के समस्त बीटीओ, चिकित्सा विभाग के आशा सुपरवाईजर ने भाग लिया।