जैसलमेर, 03 जून। जिला कलक्टर नमित मेहता ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों का तीन दिवस में गंभीरता के साथ निस्तारण कर दें, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता नहीं बरते। उन्होंने कहा कि 100 एवं इससे अधिक जिन विभागीय अधिकारियों के संपर्क पोर्टल पर प्रकरण निस्तारण होने से बकाया है उनको युद्व स्तर पर कार्य कर हर हाल में इसे निस्तारित करना होगा।

     जिला कलक्टर मेहता ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित पानी, बिजली एवं मौसमी बीमारियों की साप्ताहिक बैठक में यह निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए कि आंधियों के कारण जहां पर भी विद्युत व्यवस्था बाधित हुई है उसको कम से कम समय में दुरस्त करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने पीएचईडी  विभाग के नलकूपों को सप्ताह के अन्दर विद्युत कनेक्शन जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने पेयजल सप्लाई वाले बाधित हुए जी.एस.एस पर त्वरित गति से कार्य कर विद्युत सप्लाई सुचारु करने के निर्देश दिए।

अमेजन इंडिया पर आज का शानदार ऑफर देखें , घर बैठे सामान मंगवाए  : Click Here

     जिला कलक्टर ने अधीक्षण अभियंता जलदाय को निर्देश दिए कि वे नये नलकूप खोदने के लिए अतिशीघ्र कार्यवाही करावे एवं जून माह के अंत तक सभी नलकूपों को खुदवाने की कार्यवाही करावे। उन्होंने अभियंताओं को फील्ड में भ्रमण कर ज्यादा से ज्यादा रखने पर जोर दिया  एवं जिले में पेयजल आपूर्ति सुचारू रखने के निर्देए दिए। उन्होंने विभाग को अवैध जल कनेक्शन हटाने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए। साथ ही समस्याग्रस्त क्षेत्रों में टैंकर भेजकर पेयजल आपूर्ति करने के निर्देश दिए।

     इससे पूर्व अतिरिक्त जिला कलक्टर भागीरथ विश्नोई ने विभागवार साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा करते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जननी सुरक्षा योजना का बकाया भुगतान शीघ्र करवा कर शुन्य की स्थिति में लाने पर जोर दिया। उन्होंने गर्मी जनित बीमारियों के उपचार के सभी स्वास्थ्य एवं उपस्वास्थ्य केन्द्रो पर पुख्ता प्रबंध कराने, निःशुल्क जांच एवं निशुल्क दवा का लोगो को पूरा लाभ मिले यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी श्री जवाहिर चिकित्सालय को चिकित्सालय में बेहतर सफाई व्यवस्था करने के निर्देश दिए एवं साथ ही ठेकेदार को पांबद कर जितने सफाई कर्मचारी लगाए उतने कर्मचारी नियमित सफाई करे उसकी प्रभावी मॉनेटरिंग के निर्देश दिए।

     उन्होंने अधीक्षण अभियंता सार्वजनिक निर्माण विभाग को निर्देश दिये कि आंधियों के कारण जहां पर भी मिट्टी आई है उसको तत्परता से हटाने की कार्यवाही करें। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में रामदेवरा मेले के मध्यनजर पैदल पथ के क्षतिग्रस्त भाग की तुरन्त मरम्मत करवाकर इसे ग्राम पंचातयों को सुपुर्द करें ताकि नियमित रूप से रख-रखाव हो सकें। उन्होंने कहा कि सहायक अभियंता एवं फील्ड स्टाफ को भी पाबंद करें कि वे क्षेत्र का भ्रमण कर मिट्टी हटाने की कार्यवाही करावें ताकि सड़क मार्ग अवरुद्ध न हो। उन्होंने खनिज अभियंता को अवैध खनन की रोकथाम के लिए पुख्ता कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्यमंत्री हैल्पलाईन प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारण करने के निर्देश दिए।

     अतिरिक्त जिला कलक्टर विश्नोई ने कहा कि जिले में किसी भी विभाग में विभागीय योजना या कार्यालय अथवा परियोजना के अन्तर्गत भूमि वांछित होने पर संबंधित विभाग इसके प्रस्ताव जिला प्रशासन को दें तथा प्रशासन के सम्पर्क में रहकर आवंटन की कार्यवाही करावें। उन्होंने जिले में अनुपयोगी भवनों की सूची भी प्रेषित करने के निर्देश दिए ताकि राजकीय प्रयोजनार्थ उक्त भवनों का अन्य कार्यो के लिए उपयोग हो सकें।

     बैठक में अधीक्षण अभियन्ता जलदाय सुरेशचंद जैन, पीडब्ल्यूडी बसन्त कुमार आचार्य, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. बी.के. बारूपाल, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ.जे.आर. पंवार, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत के.सी. किराडू के साथ ही अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे एवं विभागीय गतिविधियों पर प्रकाश डाला।